पहली तिमाही में 506 करोड़ के लक्ष्य के करीब पहुंची यमुना अथॉरिटी

0
7

ग्रेटर नोएडा, 5 जून (आईएएनएस)। इस समय यमुना अथॉरिटी उत्तर प्रदेश सरकार के लिए राजस्व में नंबर वन बनी हुई है। यमुना प्राधिकरण लगातार नई-नई योजनाओं को लॉन्च कर धरातल पर ला रहा है, जिससे करोड़ों रुपए का निवेश प्राप्त हो रहा है।

इसी कड़ी में अप्रैल, मई और जून की पहली तिमाही में अथॉरिटी अपने लाभ के लक्ष्य 506 करोड़ के करीब पहुंच चुकी है। अभी तक अथॉरिटी को करीब 338 करोड़ की प्राप्तियां हुई हैं।

यमुना अथॉरिटी का दावा है कि वह 30 जून से पहले 100 नहीं, बल्कि 120 प्रतिशत का टारगेट पूरा कर लेगी। अथॉरिटी के सीईओ डॉ. अरुण वीर सिंह के मुताबिक, जल्द ही वह लेफ्टओवर प्लॉट्स लॉन्च करने की योजना लेकर आ रहे हैं। इसके बाद वह कारपोरेट, नर्सिंग होम और बैंक्वेट हॉल की भी एक बड़ी योजना लेकर आएंगे। करीब 6,000 प्लॉट्स की नई योजना भी लॉन्च की जाएगी।

लेफ्टओवर प्लॉट में 600 प्लॉट की योजना कुछ दिनों में आने वाली है और इसके बाद 6,000 प्लॉट, जिनमें 300 मीटर से लेकर 4,000 मीटर तक के प्लॉट होंगे, वह योजना 15 जून तक लोगों के लिए लॉन्च की जाएगी। इसके साथ-साथ मेडिकल डिवाइस पार्क के लिए 35 भूखंड, जो 4,000 स्क्वायर मीटर के होंगे, की योजना भी लॉन्च की जाएगी।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार ग्रेटर नोएडा के यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में मेडिकल डिवाइस पार्क का निर्माण कर रही है। इसके लिए देश-विदेश की बड़ी-बड़ी कंपनियां निवेश की इच्छा जाहिर कर रही है। इसी निवेश को जुटाने के लिए अप्रैल महीने में यमुना प्राधिकरण की एक टीम जापान के टोक्यो शहर पहुंची थी। जहां पर मेडटेक नाम का एक आयोजन किया गया था। इसमें यमुना प्राधिकरण ने अपना भी स्टॉल लगाया था।

उत्तर प्रदेश सरकार यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के सेक्टर-28 में 350 एकड़ में मेडिकल डिवाइस पार्क विकसित कर रही है। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास सेक्टर-28 में विकसित किए जा रहे मेडिकल डिवाइस पार्क में करीब 74 कंपनी को भूखंड आवंटित किया जा चुका है। इन आवंटनों से प्राधिकरण को करीब 1415.24 करोड़ का निवेश प्राप्त हुआ है। इससे उत्तर प्रदेश में 8,895 रोजगारों का सृजन भी हुआ है।