भारत ने इंग्लैंड को 106 रन से हराया, ‘बैजबॉल’ में फंसे अंग्रेज, सीरीज 1-1 से बराबर (लीड-1)

0
22

विशाखापत्तनम, 5 फरवरी (आईएएनएस)। टीम इंडिया ने इंग्लैंड के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज में दमदार वापसी की है। भारत ने दूसरे मुकाबले को 106 रन से जीतकर सीरीज में 1-1 बराबरी कर ली है।

ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के तीन-तीन विकेट की बदौलत भारत ने दूसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड को 106 रनों से हरा दिया।

इंग्लैंड ने 399 रन का पीछा करने के लिए अग्रेसिव अप्रोच दिखाया, लेकिन इस तरह के लक्ष्य को हासिल करना हमेशा एक कठिन काम होता है। उन्होंने अपनी अग्रेसिव अप्रोच को जारी रखा, लेकिन, इस बार वो कामयाब नहीं रहे, और 69.2 ओवर में 292 रन पर आउट हो गए।

बुमराह, जिनके 6-45 के स्पैल ने भारत को पहली पारी में 171 रनों की अहम बढ़त दिलाई। दूसरी पारी में 3-46 के अपने स्पैल के साथ जीत के हीरो रहे।

बुमराह ने विशाखापत्तनम टेस्ट में मात्र 91 रन देकर 9 विकेट लिए। जो इंग्लैंड के खिलाफ किसी भारतीय तेज गेंदबाज के लिए दूसरा सबसे अच्छा आंकड़ा है।

अश्विन ने विजाग में अच्छी गेंदबाजी करते हुए 72 रन देकर 3 विकेट लिए और अब वह 500 टेस्ट विकेट तक पहुंचने से केवल एक विकेट दूर हैं।

अक्षर पटेल, कुलदीप यादव और मुकेश कुमार ने एक-एक विकेट लेकर भारत को हैदराबाद में 28 रन की हार से उबारते हुए विशाखापत्तनम में जीत दिलाई।

सीरीज का अगला मैच 15 फरवरी को राजकोट के एससीए स्टेडियम में होगा।

दूसरे टेस्ट के चौथे दिन सुबह के सत्र में इंग्लैंड ने 127 रन बनाए। लेकिन, पांच विकेट भी खो दिए, जिसमें 73 रन पर शीर्ष स्कोरर जैक क्रॉली भी शामिल थे। जिससे भारत मैच जीतने के लिए मजबूत स्थिति में आ गया।

शुरुआत में भारतीय गेंदबाजों को अपनी लाइनों के साथ संघर्ष करना पड़ा क्योंकि जैक क्रॉली और रेहान अहमद ने शानदार बल्लेबाजी की। हालांकि, चौथे दिन भारतीय गेंदबाजों का पलड़ा हावी रहा।

इंग्लिश टीम के बल्लेबाज पहले सेशन में ओवर अग्रेसिव दिखे। इस कारण टीम ने लगातार विकेट गंवाए। जिसका नतीजा यह रहा कि चौथे दिन लंच तक इंग्लिश टीम का स्कोर 194/6 रहा।

जहां एक तरफ इंग्लैंड के सामने एक बड़ा लक्ष्य था। वहीं, भारत को लंच के बाद केवल 4 विकेट चाहिए थे। इंग्लैंड की टीम ने मुकाबले में नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए, लेकिन, अपनी बैटिंग अप्रोच नहीं बदली। जिसका पूरा फायदा भारतीय टीम को मिला।

टीम ने पहली पारी में 4.53 के रन रेट से 253 रन बनाए और दूसरी पारी में 4.21 के रन रेट से 292 रन जुटाए। जबकि, भारतीय टीम ने पहली पारी में 3.53 के रन रेट से 396 और दूसरी पारी में 3.24 के रन रेट से 255 रन बनाए।