स्वदेशी रूप से विकसित 3 तकनीक भारत में 12 उद्योगों को हस्तांतरित की गई

0
17

नई दिल्ली, 4 फरवरी (आईएएनएस)। तीन स्वदेशी रूप से विकसित प्रौद्योगिकियां – थर्मल कैमरा, सीएमओएस कैमरा और फ्लीट मैनेजमेंट सिस्टम – रविवार को भारत में 12 उद्योगों को हस्तांतरित कर दी गईं।

आईआईआईटी-दिल्ली में आयोजित “डिजिटल इंडिया फ्यूचरलैब्स समिट 2024” के लॉन्च के दौरान इन उद्योगों को इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) के इनट्रांस कार्यक्रम के तहत सीडीएसी (उन्नत कंप्यूटिंग विकास केंद्र), तिरुवनंतपुरम द्वारा डिजाइन और विकसित प्रौद्योगिकियों को स्थानांतरित किया गया।

मंत्रालय के अनुसार, यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विकसित भारत @2047 पहल के नवाचार, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विषय की दिशा में एक कदम है।

थर्मल स्मार्ट कैमरा तकनीक में विभिन्न एआई-आधारित एनालिटिक्स चलाने के लिए एक इनबिल्ट डीपीयू है। स्वदेशी प्रौद्योगिकी को स्मार्ट शहरों, उद्योगों, रक्षा, स्वास्थ्य और अन्य सहित कई डोमेन में अनुप्रयोगों के लिए लक्षित किया गया है।

इस कैमरे का क्षेत्रीय कार्यान्वयन, परीक्षण और सत्यापन सड़क यातायात अनुप्रयोगों के लिए किया गया था।

यह तकनीक एक साथ आठ उद्योगों को हस्तांतरित की गई।

सीएमओएस कैमरा तकनीक एक औद्योगिक विज़न सेंसर iVIS 10GigE है – अगली पीढ़ी के औद्योगिक मशीन विज़न अनुप्रयोगों को निष्पादित करने के लिए एक शक्तिशाली ऑन-बोर्ड कंप्यूटिंग इंजन के साथ एक सीएमओएस आधारित विजन प्रोसेसिंग सिस्टम है। इस तकनीक को एक उद्योग में स्थानांतरित कर दिया गया।

तीसरी तकनीक, फ्लीट मैनेजमेंट सिस्टम, जिसमें फ्लेक्सीफ्लीट, पर्सनलाइज्ड ट्रांजिट रूट गाइडेंस सिस्टम और हेडवे विश्‍वसनीयता के लिए परिचालन रणनीतियां शामिल हैं।

फ्लेक्सीफ़्लीट का उद्देश्य संचालन को अनुकूलित करना और बेड़े ऑपरेटरों और पारगमन एजेंसियों की दक्षता में वृद्धि करना है। वाहन स्थान ट्रैकिंग के अलावा, यह ओवरस्पीडिंग, जियोफेंस, इग्निशन, निष्क्रिय, रुकना और रैश ड्राइविंग जैसी विभिन्न स्थितियों के लिए अलर्ट प्रदान करता है। पर्सनलाइज्ड ट्रांजिट रूट गाइडेंस सिस्टम एक मोबाइल ऐप है जिसका उद्देश्य यात्रियों के लिए यात्रा अनुभव को बेहतर बनाना है क्योंकि यह यात्रियों को उनकी पसंद के सबसे कुशल या वैयक्तिकृत मार्ग चुनने का विकल्प प्रदान करता है।

हेडवे विश्‍वसनीयता के लिए परिचालन रणनीतियां ट्रांजिट ऑपरेटरों के लिए एक गतिशील शेड्यूलिंग निर्णय समर्थन उपकरण के रूप में कार्य करती है, जिसका लक्ष्य बस बंचिंग की घटनाओं को कम करके सार्वजनिक पारगमन सेवाओं की विश्‍वसनीयता को बढ़ाना है। यह तकनीक एक साथ तीन उद्योगों को हस्तांतरित की गई।