ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी में दाखिले जल्द होने वाले हैं बंद

0
16

सोनीपत, 10 जून (आईएएनएस)। ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी (जेजीयू) अपने 2024 अंडर ग्रेजुएट (यूजी) और पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम के लिए दाखिले जल्द ही बंद करने जा रही है। भावी छात्र 12 स्कूलों में 45 से ज्यादा करियर-ओरिएंटेड प्रोग्राम में से कुछ भी चुन सकते हैं।

छात्र कानून, व्यवसाय, बैंकिंग और वित्त, सरकार और पब्लिक नीति, अंतर्राष्ट्रीय मामले, पत्रकारिता और संचार, आर्ट और आर्किटेक्चर, पर्यावरण और स्थिरता, मनोविज्ञान और परामर्श, लिबरल आर्ट और मानविकी, भाषा और साहित्य, सार्वजनिक स्वास्थ्य और मानव विकास जैसे विषयों में 45 से अधिक प्रोग्राम में से चुन सकते हैं।

नया एकेडमिक वर्ष एक अगस्त 2024 से शुरू होगा। अभी आवेदन करें और एकेडमिक एक्सीलेंस और विकास की यात्रा पर निकलें।

प्रतिष्ठित क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2023 से भारत के एक निजी विश्वविद्यालय के रूप में मान्यता प्राप्त, जेजीयू एक अद्वितीय शैक्षणिक अनुभव प्रदान करता है।

12 स्कूलों में 45 प्रोग्राम के साथ छात्र 1100 से अधिक सदस्यों वाले विश्वस्तरीय फैकल्टी द्वारा निर्देशित, अंतरराष्ट्रीय शिक्षण वातावरण में शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं, जिनमें से कई आइवी लीग संस्थानों सहित शीर्ष 200 वैश्विक विश्वविद्यालयों के पूर्व छात्र हैं।

प्रतिष्ठित क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2023 से भारत के प्रथम प्राइवेट यूनिवर्सिटी के रूप में मान्यता प्राप्त जेजीयू एक अद्वितीय शैक्षणिक एक्सपीरियंस देता है।

यूनिवर्सिटी के संस्थापक कुलपति प्रोफेसर डॉ. सी राज कुमार ने कहा, “जेजीयू की प्रतिबद्धता छात्रों को दोहरी डिग्री और भाषा कार्यक्रमों की एक सीरीज पेश करती है।

छात्र अलग-अलग संस्कृतियों और शैक्षणिक वातावरण का एक्सपीरियंस करने के लिए इमर्शन प्रोग्रामों में हिस्सा ले सकते हैं या दुनिया भर में 450 से ज्यादा लीडिंग संस्थानों के जेजीयू के मजबूत ग्लोबल नेटवर्क के साथ सेमेस्टर एक्सचेंज जैसे लॉन्ग टर्म विकल्पों को अपना सकते हैं।

यूनिवर्सिटी का परिसर 100 एकड़ से ज्यादा में फैला हुआ है। यह अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। 1:9 के शानदार फैकल्टी-स्टूडेंट अनुपात के साथ, जेजीयू ग्लोबल लीडर्स की अगली पीढ़ी का पोषण करते हुए व्यक्तिगत ध्यान और मार्गदर्शन सुनिश्चित करता है।”

विस्तृत जानकारी और आवेदन प्रक्रियाएं विश्वविद्यालय की प्रवेश वेबसाइट पर देखी जा सकती है। सीमित सीटें उपलब्ध होने और आवेदन की अंतिम तारीख पास आने के कारण, इच्छुक उम्मीदवारों को भारत के 1 निजी यूनिवर्सिटी में अपना स्थान सुरक्षित करने के लिए इस अंतिम अवसर का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

साल 2009 में स्थापित जेजीयू एक गैर-लाभकारी संस्था है, जो ग्लोबल नागरिकता और शैक्षणिक उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के लिए समर्पित है। हम एक परिवर्तनकारी शैक्षिक अनुभव (एक्सपीरियंस) प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जो छात्रों को दुनिया पर पॉजिटिव प्रभाव डालने के लिए तैयार करता है।

2009 में हरियाणा के सोनीपत में स्थापित ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी (जेजीयू) एक प्रमुख गैर-लाभकारी संस्था है। एक प्रतिष्ठित संस्थान के रूप में मान्यता प्राप्त, जेजीयू अपने अभिनव शिक्षण, विविध शैक्षणिक प्रोग्रामों और मजबूत ग्लोबल सहयोग के लिए प्रसिद्ध है। जेजीयू के पूरे आवासीय परिसर में 12 हजार 500 से ज्यादा छात्र, 1200 प्लस पूर्णकालिक फैकल्टी सदस्य और 2800 प्लस प्रशासनिक कर्मचारी हैं।

पिछले दशक में, जेजीयू एक ऐसे संस्थान के रूप में विकसित हुआ है, जो दुनिया के 50 से ज्यादा देशों से पूर्णकालिक फैकल्टी, 70 से अधिक देशों के छात्र हैं और 75 से ज्यादा देशों में 450 से अधिक लीडिंग संस्थानों के साथ सहयोग करता है, जिससे सीखने का अनुभव वास्तव में अंतर्राष्ट्रीय हो गया है।

प्रतिष्ठित क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2023 द्वारा जेजीयू को लगातार तीन वर्षों तक भारत के नंबर 1 प्राइवेट यूनिवर्सिटी के रूप में स्थान दिया गया है। क्यूएस यंग यूनिवर्सिटी रैंकिंग द्वारा जेजीयू को 50 साल से कम आयु के ग्लोबल स्तर पर टॉप 150 यूनिवर्सिटियों में मान्यता दी गई है। क्यूएस ग्रेजुएट एम्प्लॉयबिलिटी रैंकिंग 2022 के अनुसार, जेजीयू को टॉप 500 यूनिवर्सिटियों में भी मान्यता दी गई है। जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल को लगातार पांच वर्षों से भारत में नंबर 1 स्थान दिया गया है और यह क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग बाय सब्जेक्ट 2024 द्वारा ग्लोबल टॉप 100 लॉ स्कूलों में भारत का एकमात्र लॉ स्कूल है।