भारत में जेनएआई सेवाओं के प्रसार के लिए एयरटेल व गूगल क्लाउड के बीच समझौता

0
11

नई दिल्ली, 13 मई (आईएएनएस)। भारत में क्लाउड अपनाने में तेजी लाने और जेनरेटिव आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (जेनएआई) सेवाओं के प्रसार के लिए भारती एयरटेल और गूगल क्लाउड के बीच सोमवार को एक समझौता हुआ।

दोनों कंपनियों के बीच यह समझौता एयरटेल ग्राहकों को गूगल क्लाउड से अत्याधुनिक क्लाउड सुविधा प्रदान करेगा। इससे क्लाउड अपनाने और आधुनिकीकरण में तेजी आएगी।

भारती एयरटेल के एमडी और सीईओ गोपाल विट्टल ने एक बयान में कहा, “हम गूगल क्लाउड के साथ समझौता कर खुश हैं।”

उन्होंने कहा,” इस समझौते से देश में जेनएआई के इस्तेमाल में तेजी आई आएगी और समस्याओं के समाधान में आसानी होगी।”

सीईओ गोपाल विट्टल ने कहा, दोनों कंपनियां बढ़ते भारतीय सार्वजनिक क्लाउड सेवा बाजार को ध्यान में रखकर काम कर रही हैं। 2027 तक इस क्षेत्र का कारोबार 17.8 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है।

एयरटेल की ओर से कहा गया कि वह दो हजार से अधिक बड़े उद्यमों और दस लाख उभरते व्यवसायों के अपने ग्राहकों को क्लाउड युक्त सेवा प्रदान करेगा।

गूगल क्लाउड के सीईओ थॉमस कुरियन ने कहा, “इस समझौते के जरिए हमारा लक्ष्य ग्राहकों को सर्वोत्तम सेवा प्रदान करना व उनकी समस्याओं का समाधान करना है।”

इसके अलावा, एयरटेल ने एक एंड-टू-एंड आईओटी (इंटरनेट ऑफ थिंग्स) समाधान तैयार किया है। यह कनेक्टिविटी, गूगल क्लाउड सेवाओं और एप्लिकेशन सॉफ़्टवेयर को जोड़ता है।

अपने क्लाउड-आधारित समाधान व्यवसाय को और सशक्त बनाने के लिए, एयरटेल ने पुणे में 300 से अधिक विशेषज्ञों के साथ एक सेवा केंद्र स्थापित किया है। इन्हें गूगल क्लाउड सेवाओं को और बेहतर बनाने और विश्व स्तरीय तकनीकी समाधान विकसित करने के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है।