2028 ओलंपिक में क्रिकेट खिलाड़ियों के लिए होगा ‘सबसे अविश्वसनीय अनुभव’ : पीटरसन

0
14

नई दिल्ली, 24 जून (आईएएनएस)। लॉस एंजिल्स ओलंपिक 2028 में क्रिकेट भी खेला जाएगा। यानी 128 साल बाद क्रिकेट की ओलंपिक में वापसी होगी। यह एक ऐतिहासिक क्षण होगा। वहीं, इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन का मानना ​​है कि ओलंपिक में खेलना एक क्रिकेटर के लिए ‘सबसे अविश्वसनीय अनुभव’ होगा।

पीटरसन के करियर में टी20 विश्व कप ट्रॉफी, भारत और ऑस्ट्रेलिया जैसे क्रिकेट दिग्गजों के खिलाफ यादगार जीत शामिल है। उन्होंने क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल करने की पहल की सराहना की।

क्रिकेट को 2028 खेलों के लिए ओलंपिक में जोड़ा गया है। आईसीसी के अनुसार, इस गेम के टीवी और डिजिटल प्लेटफॉर्म पर 3 बिलियन से अधिक दर्शकों के होने का अनुमान है। वर्ष 1900 के बाद यह पहली बार होगा जब ओलंपिक खेलों में क्रिकेट को जोड़ा गया है।

पीटरसन ने पॉडकास्ट श्रृंखला ‘180 नॉट आउट’ में कहा, “मैंने कभी ओलंपिक खेल नहीं खेला। मैं टी20 विश्व कप जीतने और विश्व कप में खेलने के लिए काफी भाग्यशाली महसूस कर रहा हूं। लेकिन जब आप ओलंपिक खेलों में खेलने के अवसर को देखते हैं, तो यह बहुत अच्छा है।

गोल्फ थोड़े समय पहले ही ओलंपिक का हिस्सा बना। जस्टिन रोज ने पहला गेम जीता, वह मेरा दोस्त है। उसने कहा कि ओलंपिक खेलों में खेलना सबसे अविश्वसनीय अनुभव है।”

पूर्व दक्षिण अफ्रीकी सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला, जो इस पॉडकास्ट का हिस्सा थे, ने इस खेल की बढ़ती लोकप्रियता के बीच खिलाड़ियों के सामने आने वाली कठिन चुनौतियों के बारे में बात की।

अमला ने कहा, “यह वास्तव में खिलाड़ियों को परेशान कर रहा है…एक तरफ राष्ट्रीय टीम और दूसरी तरफ फ्रैंचाइज़ी क्रिकेट। इसने खिलाड़ियों को दुविधा में डाल दिया है कि उन्हें किस तरफ जाना है और वे अपना करियर कैसे बनाना है। यह एक बहुत ही कठिन निर्णय है। मुझे लगता है, अगर आप अच्छा ओलंपिक चाहते हैं तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि ओलंपिक खेल एक अंतर पर हो ताकि यह किसी अन्य लीग से न टकराए। वे ऐसा कैसे कर सकते हैं, मुझे नहीं पता, लेकिन मुझे उम्मीद है कि वे ऐसा करेंगे।”

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज एस श्रीसंत, जो 2011 विश्व कप विजेता टीम में थे, वो भी इस पॉडकास्ट का हिस्सा थे। उन्होंने कहा कि अगर भारत लॉस एंजिल्स ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतता है, तो यह ‘सोने पर सुहागा’ होगा।

श्रीसंत ने कहा, “मैं ओलंपिक को चुनूंगा। मैं केरल से हूं, जो ओलंपियनों की भूमि है… जब भी वे ट्रैक और फील्ड में जाते हैं, तो उनके घर के सामने ‘ओलंपियन’ लिखा होता है। मेरे लिए यह ऑस्कर की तरह है, लेकिन ऑस्कर हर साल होता है और ओलंपिक चार साल में एक बार होता है। ठीक वैसे ही जैसे विश्व कप होता है। अगर भारत ओलंपिक स्वर्ण पदक जीतता है तो यह सबसे बड़ी उपलब्धि होगी।”