एफपीआई ने जनवरी में 27 हजार करोड़ रुपये की इक्विटी बेची

0
33

नई दिल्ली, 27 जनवरी (आईएएनएस)। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वीके विजयकुमार ने कहा कि एफपीआई नकदी बाजार में विक्रेता बने रहे और उन्होंने 25 जनवरी तक 27,664 करोड़ रुपये की इक्विटी बेची।

एफपीआई ऑटो और ऑटो सहायक, मीडिया और मनोरंजन व मामूली रूप से आईटी में विक्रेता थे। उन्होंने कहा, उन्होंने तेल और गैस, बिजली और चुनिंदा वित्तीय सेवाएं खरीदीं।

अमेरिका में बढ़ती बांड पैदावार चिंता का विषय है और इससे नकदी बाजार में बिकवाली का हालिया दौर शुरू हो गया है। वैश्विक शेयर बाजारों में तेजी फेड की धुरी से शुरू हुई, जिसमें 10 साल की बॉन्ड यील्ड 5 प्रत‍िशत से गिरकर लगभग 3.8 प्रत‍िशत हो गई। उन्होंने कहा, अब 10-वर्ष 4.18 प्रत‍िशत पर वापस आ गया है जो इंगित करता है कि फेड दर में कटौती केवल 2024 की दूसरी छमाही में होगी।

कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज की एक रिपोर्ट के अनुसार, सूचीबद्ध फंडों में 2 बिलियन डॉलर का प्रवाह देखा गया, जो पूरी तरह से ईटीएफ प्रवाह के कारण था। भारत-समर्पित फंडों में 3.1 बिलियन डॉलर का प्रवाह देखा गया, जो 2 बिलियन डॉलर ईटीएफ प्रवाह और 1.1 बिलियन डॉलर गैर-ईटीएफ प्रवाह में विभाजित है, जबकि जीईएम फंडों में 247 मिलियन डॉलर का बहिर्वाह देखा गया, जिसके नेतृत्व में 337 मिलियन गैर-ईटीएफ प्रवाह, 90 मिलियन डॉलर की भरपाई हुई।

सूचीबद्ध उभरते बाज़ार फंड प्रवाह मिश्रित थे। दक्षिण कोरिया, इंडोनेशिया और ताइवान में क्रमशः 3 बिलियन डॉलर, 262 मिलियन डॉलर और 76 मिलियन डॉलर का बहिर्वाह देखा गया। चीन, भारत और ब्राज़ील में क्रमशः 10.8 बिलियन डॉलर, 2 बिलियन डॉलर और 186 मिलियन डॉलर का प्रवाह देखा गया। कुल एफपीआई और ईपीएफआर गतिविधि ने इंडोनेशिया, दक्षिण कोरिया और ताइवान के लिए अलग-अलग रुझान दिखाए।

–आईएएनएस

सीबीटी/