जेनरेटिव एआई हमारे परिचालन पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है : नेटफ्लिक्स

0
22

सैन फ्रांसिस्को, 28 जनवरी (आईएएनएस)। नेटफ्लिक्स ने जेनरेटिव एआई पर खतरा जताते हुए कहा है कि ऐसी टेक्नोलॉजी उनके संचालन और अन्य कंपनियों के साथ प्रभावी ढंग से प्रतिस्पर्धा करने की क्षमता पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती है।

यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन (एसईसी) के साथ दायर अपनी वार्षिक रिपोर्ट में, स्ट्रीमिंग जायंट ने कहा कि जेनेरेटिव आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के डेवलपमेंट और उपयोग सहित नए टेक्नोलॉजी डेवलपमेंट्स तेजी से विकसित हो रहे हैं।

कंपनी ने कहा, “अगर हमारे प्रतिस्पर्धियों को ऐसी टेक्नोलॉजी का उपयोग कर लाभ मिलता है, तो प्रभावी ढंग से प्रतिस्पर्धा करने की हमारी क्षमता और हमारे संचालन के परिणामों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।”

नेटफ्लिक्स ने आगे कहा कि नई और उभरती टेक्नोलॉजी का उपयोग या अपनाने से इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी दावों के प्रति हमारा जोखिम बढ़ सकता है, और एआई-जनरेटेड मेटेरियल के लिए कॉपीराइट और अन्य इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी प्रोटेक्शन की उपलब्धता अनिश्चित है।”

जेनेरिक एआई-निर्मित एंटरटेनमेंट के लिए अभी शुरुआती दिन है, लेकिन चीजें तेजी से बदल सकती हैं।

हाल ही में वॉल स्ट्रीट जर्नल के एक आर्टिकल में कहा गया है कि व्यापक रूप से उपलब्ध एआई टूल्स स्टोरी, करेक्टर आर्क और डायलॉग का सुझाव दे सकते हैं। कुछ प्रॉम्प्ट दिए जाने पर चैटजीपीटी एक बेसिक स्क्रिप्ट भी लिख सकता है।

2022 की फिल्म ‘एवरीथिंग एवरीव्हेयर ऑल एट वन्स’ को बनाने में जेनरेटिव एआई का इस्तेमाल किया गया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पहले से ही जेनरेटिव एआई सिस्टम मौजूद हैं जो वीडियो बना सकते हैं। एआई का उपयोग डेटा-ड्राइवन प्रेडिक्शन प्रदान करने के लिए भी किया जा रहा है कि असामान्य कहानियां दर्शकों को कैसे प्रभावित करेंगी।

पिछले साल मई में, स्ट्रीमिंग सर्विस प्रोग्रामिंग से फिल्म और टीवी लेखकों की आय को लेकर राइटर्स गिल्ड ऑफ अमेरिका (डब्ल्यूजीए) ने हड़ताल कर दी, और मांग की कि प्रोडक्शन कंपनियां आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस या इसी तरह की टेक्नोलॉजी का उपयोग करके उत्पादित मटेरियल के उपयोग को विनियमित करें।

–आईएएनएस

पीके/एसकेपी