मैं धोनी का जीवनभर ऋणी रहूंगा: अश्विन

0
20

नई दिल्ली, 17 मार्च (आईएएनएस)। भारत के अनुभवी ऑफ स्पिनर आर अश्विन ने उन्हें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में से एक बनने में मदद करने के लिए एमएस धोनी का शुक्रिया अदा किया है। उन्होंने कहा कि वह सीएसके के कप्तान एमएस धोनी के हमेशा ‘ऋणी’ रहेंगे।

आर.अश्विन ओपनिंग सीजन में सीएसके टीम का हिस्सा थे, लेकिन तब उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला था। फिर, 2009 में उन्होंने केप टाउन में मुंबई इंडियंस (एमआई) के खिलाफ डेब्यू किया।

अश्विन के हवाले से कहा गया, “2008 में मैं महान खिलाड़ियों (सीएसके ड्रेसिंग रूम में) मैथ्यू हेडन और एमएस धोनी से मिला। तब मैं कुछ भी नहीं था, मैं उस टीम में कहां खेल सकता था जिसमें मुथैया मुरलीधरन थे।

”धोनी ने मुझे जो मौके दिए उसके लिए मैं जीवन भर उनका ऋणी रहूंगा। उन्होंने मुझे क्रिस गेल के खिलाफ नई बॉल थमाई और 17 साल बाद अनिल भाई उस दिन के बारे में बात कर रहे थे।

नवंबर 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू करने वाले अश्विन पिछले हफ्ते इंग्लैंड के खिलाफ धर्मशाला में पांचवें टेस्ट में भारत के लिए 100 टेस्ट मैच खेलने वाले 14वें भारतीय खिलाड़ी बने।

अनुभवी ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन के बाद 100 से कम टेस्ट मैचों में 500 विकेट हासिल करने वाले अश्विन दूसरे गेंदबाज भी बन गए हैं।