कैफ ने वर्ल्ड कप 2023 फाइनल में हार के लिए रोहित-द्रविड़ को जिम्मेदार ठहराया

0
23

नई दिल्ली, 17 मार्च (आईएएनएस)। वर्ल्ड कप 2023 को भारतीय क्रिकेट फैंस कभी नहीं भूल सकते। 19 नवंबर 2023, वो तारीख है जब भारत के पास मौका था वर्ल्ड चैंपियन बनने का, लेकिन टीम इंडिया के लिए एक खराब दिन ने करोड़ों भारतीय फैंस का दिल तोड़ दिया। इस हार का दुख अभी तक फैंस के जहन में ताजा ही है। वहीं, अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने एक बड़ा खुलासा किया है, जिसने क्रिकेट जगत में नया बखेड़ा खड़ा कर दिया है।

कैफ ने आरोप लगाया है कि भारत ने अहमदाबाद में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे विश्व कप फाइनल की पिच से छेड़छाड़ की। पूर्व बल्लेबाज के इस सनसनीखेज दावे ने आईपीएल 2024 से पहले भारतीय क्रिकेट टीम पर कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

इतना ही नहीं मोहम्मद कैफ ने मेन इन ब्लू की छह विकेट से हार के लिए कप्तान रोहित शर्मा और मुख्य कोच राहुल द्रविड़ को भी जिम्मेदार ठहराया।

कैफ ने ‘द लल्लनटॉप’ पर एक शो के दौरान कहा, “मैं वहां तीन दिनों के लिए था। रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ ने फाइनल से पहले तीन दिनों तक हर दिन पिच का निरीक्षण किया। वे हर दिन एक घंटे तक पिच के पास खड़े रहे। मैंने देखा कि पिच अपना रंग बदल रही है।

“पानी नहीं डाला जा रहा था। पिच पर कोई घास नहीं थी। भारत ऑस्ट्रेलिया को धीमी पिच देना चाहता था। यह सच है, भले ही लोग इस पर विश्वास नहीं करना चाहें।”

“ऐसा लग रहा था कि ऑस्ट्रेलिया के पास पैट कमिंस और मिचेल स्टार्क हैं, इसलिए भारत उनके सामने धीमी पिच रखना चाहता था और यह हमारी गलती थी। कई लोग कहते हैं कि क्यूरेटर अपना काम करते हैं और हम उन्हें प्रभावित नहीं करते हैं, हालांकि यह सब बकवास बाते हैं।”

“जब आप पिच के चारों ओर घूम रहे हैं। आपको केवल दो बातें कहनी हैं- कृपया पानी न डालें, बस घास कम करें। ऐसा होता है। यह सच है और यह किया जाना चाहिए। आप घर पर खेल रहे हैं। बस हमने इसे थोड़ा ज़्यादा कर दिया।”

भारत लगातार 10 मैच जीतकर वनडे विश्व कप 2023 के फाइनल में पहुंचा था। टूर्नामेंट में भारत की फॉर्म देखकर हर कोई वर्ल्ड कप के सपने संजोए… बस अंतिम नतीजों का इंतजार कर रहा था, लेकिन वक्त ने ऐसी करवट ली कि भारतीय टीम के हाथों से रेत की तरह ट्रॉफी फिसल गई।

19 नवंबर, 2023 को नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खिताबी मुकाबले में टॉस हारकर टीम इंडिया पहले बल्लेबाजी करने उतरी। इस दिन भारतीय बल्लेबाजी बुरी तरह फ्लॉप रही और अधिकांश बल्लेबाज सस्ते में पवेलियन लौट गए जिसका नतीजा यह रहा कि भारतीय पारी मात्र 240 पर सिमट गई।

जवाब में ट्रैविस हेड (137 रन) और मार्नस लाबुशेन (नाबाद 58 रन) की मदद से ऑस्ट्रेलिया ने सात ओवर शेष रहते इस लक्ष्य को हासिल कर लिया और रिकॉर्ड छठा खिताब अपने नाम किया।

आईसीसी के पिच सलाहकार एंडी एटिंकसन फाइनल से ठीक पहले वनडे विश्व कप से बाहर हो गए थे। बताया जा रहा है कि फाइनल मैच के लिए पिच कैसी होनी चाहिए, इस पर बीसीसीआई और उनके बीच मतभेद था।