भारत दुनिया के विकास की दिशा कर रहा तय : पीएम मोदी

0
21

पणजी, 6 फरवरी (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि भारत उन कुछ देशों में से है, जहां करोड़ों घरों को विद्युतीकृत कर 100 प्रतिशत बिजली कवरेज हासिल किया गया है और इस प्रकार विकास की दिशा तय कर रहा है।

पीएम मोदी ने साउथ-गोवा में ‘इंडिया एनर्जी वीक 2024’ का उद्घाटन किया। इस अवसर पर गोवा के राज्यपाल पीएस श्रीधरन पिल्लई, मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत, केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री हरदीप सिंह पुरी और केंद्रीय पेट्रोलियम, तेल व प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री रामेश्वर तेली मौजूद थे।

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि प्रतिकूल ग्लोबल कारकों के बावजूद, भारत उन कुछ देशों में से है जहां पेट्रोल की कीमतें कम हुई हैं। करोड़ों घरों को विद्युतीकृत कर 100 प्रतिशत बिजली कवरेज हासिल किया गया है। भारत न सिर्फ अपनी जरूरतें पूरी कर रहा है, बल्कि दुनिया के विकास की दिशा भी तय कर रहा है।

भारत ऊर्जा सप्ताह 2024 भारत की सबसे बड़ी और एकमात्र सर्वव्यापी ऊर्जा प्रदर्शनी और सम्मेलन है, जो भारत के ऊर्जा संक्रमण लक्ष्यों को उत्प्रेरित करने के लिए संपूर्ण ऊर्जा मूल्य चेन को एक साथ लाता है।

पीएम ने आगे कहा कि यह तब हो रहा है जब वित्तीय वर्ष के पहले छह महीनों में भारत की जीडीपी दर 7.5 प्रतिशत को पार कर गई है, जो विश्व विकास अनुमान से अधिक है, जिससे भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बन गया है।

पीएम ने भविष्य में इसी तरह के विकास रुझानों की अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) की भविष्यवाणी का भी उल्लेख किया। पीएम मोदी ने कहा, ”दुनिया भर के आर्थिक विशेषज्ञों का मानना है कि भारत जल्द ही दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा।”

पीएम ने कहा कि भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा ऊर्जा, तेल और एलपीजी उपभोक्ता है। भारत चौथा सबसे बड़ा ऑटोमोबाइल बाजार होने के साथ-साथ चौथा सबसे बड़ा एलएनजी आयातक और रिफाइनर है।

पीएम ने देश में ईवी की बढ़ती मांग को भी रेखांकित किया और 2045 तक देश की ऊर्जा मांग दोगुनी होने के अनुमान के बारे में भी बात की।

प्रधानमंत्री ने सरकार के सुधारों और देश द्वारा प्राथमिक ऊर्जा मिश्रण में गैस का प्रतिशत 6 से 15 प्रतिशत तक ले जाने के प्रयासों के कारण घरेलू गैस के बढ़ते उत्पादन पर ध्यान दिया। उन्होंने कहा कि अगले 5-6 साल में इसमें करीब 67 अरब डॉलर का निवेश आएगा।

पीएम मोदी ने कहा कि सरकार की प्रतिबद्धता अपशिष्ट से धन प्रबंधन मॉडल के माध्यम से ग्रामीण अर्थव्यवस्थाओं को बदलने की है। हम भारत में 5,000 कंप्रेस्ड बायोगैस प्लांट लगाने की दिशा में काम कर रहे हैं।

विश्व पर्यावरण संबंधी चिंताओं को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया की 17 प्रतिशत आबादी का घर होने के बावजूद, भारत का कार्बन उत्सर्जन हिस्सा केवल 4 प्रतिशत है। भारत का लक्ष्य 2070 तक शुद्ध शून्य उत्सर्जन हासिल करना है।