भारतीय मूल के निकेश अरोड़ा अमेरिका में सबसे ज्‍यादा वेतन पाने वाले दूसरे सीईओ : रिपोर्ट

0
46

वाशिंगटन, 21 मई (आईएएनएस)। भारत में जन्मे पालो ऑल्टो नेटवर्क्स के सीईओ निकेश अरोड़ा को 2023 में अमेरिका के दूसरे सबसे अधिक वेतन पाने वाले सीईओ का दर्जा दिया गया है।

द वॉल स्ट्रीट जर्नल द्वारा मंगलवार को प्रकाशित एक विश्लेषण के अनुसार, कुल 17 भारतीय मूल के सीईओ शीर्ष 500 रैंकिंग में हैं।

एडोब के शांतनु नारायण दूसरे सबसे अधिक वेतन पाने वाले भारतीय मूल के सीईओ हैं, जो कुल मिलाकर 11वें स्थान पर हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, अरोड़ा और नारायण ने क्रमशः 151.43 मिलियन डॉलर और 44.93 मिलियन डॉलर कमाए, जो टेस्ला के एलन मस्क की कमाई से अधिक है, जिन्हें 2023 में कोई मुआवजा नहीं मिला।

समीक्षाधीन अवधि के दौरान मेटा के मार्क जुकरबर्ग ने 24.40 मिलियन डॉलर कमाए, जबकि भारत में जन्मे अल्फाबेट के प्रमुख सुंदर पिचाई ने 8.80 मिलियन डॉलर कमाए।

दिल्ली के एयर फोर्स पब्लिक स्कूल में पढ़े अरोड़ा ने पहली बार गूगल में मुख्य व्यवसाय अधिकारी के रूप में दुनिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया। उन्होंने 2014 में सॉफ्टबैंक के प्रमुख का पद मुआवजा लेकर छोड़ दिया था। इसे जापान के लिए एक रिकॉर्ड कहा गया था।

अरोड़ा 2018 से साइबर सुरक्षा कंपनी पालो ऑल्टो नेटवर्क्स का नेतृत्व कर रहे हैं। पालो ऑल्टो नेटवर्क्स में उनके मुआवजे में ज्यादातर इक्विटी पुरस्कार शामिल हैं और इनमें तीन वर्षों में दिए गए शेयर शामिल हैं।

नारायण, जिनका जन्म और पालन-पोषण हैदराबाद में हुआ, 1998 में कंपनी में शामिल होने के बाद 2007 से एडोब के सीईओ हैं।

ब्रॉडकॉम के हॉक टैन 162 मिलियन डॉलर की कमाई के साथ इस सूची में शीर्ष पर हैं।

भारतीय अमेरिकियों में तीसरे, चौथे और पांचवें स्थान पर माइक्रोन टेक्नोलॉजी के संजय मल्होत्रा (63वें, 25.28 मिलियन डॉलर), एनसिस के अजेय गोपाल (66वें, 24.63 मिलियन डॉलर) और वर्टेक्स फार्मास्यूटिकल्स की रेशमा केवलरमानी (118वें, 20.59 मिलियन डॉलर) थे।

अन्य में आईबीएम के अरविंद कृष्णा (123वें, 20.40 मिलियन डॉलर), एनफेज एनर्जी के बद्रीनारायण कोठंडारमन (135वें, 19.53 मिलियन डॉलर), लिंडे के संजीव लांबा (143वें, 9.20 मिलियन डॉलर), एमर्सन इलेक्ट्रिक के सुरेंद्रलाल करसनभाई (158वें, 18.32 मिलियन डॉलर), कैडेंस डिजाइन सिस्टम्स के अनिरुद्ध देवगन (172वें, 17.34 मिलियन डॉलर), वेलफ्लॉवर के शंख मित्रा (174वें, 17.20 मिलियन डॉलर), रियल्टी इनकम के सुमित रॉय (268वें, 13.13 मिलियन डॉलर), कीसाइट टेक्नोलॉजीज के सतीश धनसेकरन (319वें, 10.75 मिलियन डॉलर), रेविटी के प्रह्लाद सिंह (357वें, 9.13 मिलियन डॉलर), अल्फाबेट के सुंदर पिचाई (364वें, 8.80 मिलियन डॉलर), वाटर्स के उदित बत्रा (367वें, 8.74 मिलियन डॉलर) और नॉर्डसन के सुंदरराजन नागराजन (389वें, 6.98 मिलियन डॉलर) शामिल हैं।