इंपैक्ट प्लेयर नियम ने गेंदबाज़ों के आंकड़े बिगाड़ दिए: स्टार्क

0
22

मुंबई, 4 मई (आईएएनएस) मिचेल स्टार्क के लिए आईपीएल 2024 मिला-जुला रहा है। नीलामी में उन्हें 24.75 करोड़ रूपये मिले थे और वह लीग इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी बने थे, लेकिन गेंदबाज़ी में वह संघर्ष करते दिखे हैं। इस सीज़न काफ़ी बड़े स्कोर बन रहे हैं और स्टार्क के नाम आठ मैचों में 11.78 की इकॉनमी से केवल सात विकेट हैं। तीन बार उन्होंने मैच में 50 या उससे अधिक रन भी खर्च किए हैं।

शुक्रवार को मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ मैच में उन्होंने शानदार गेंदबाज़ी करते हुए 33 रन देकर चार विकेट लिए और कोलकाता नाइट राइडर्स को 24 रनों से जीत दिलाई। स्टार्क ने मैच के बाद कहा कि गेंदबाज़ों के खराब आंकड़ों के पीछे का कारण इंपैक्ट प्लेयर का नियम है।

मैच के बाद प्रेस कॉन्फ़्रेंस में स्टार्क ने कहा, “इंपैक्ट प्लेयर नियम चीज़ों को थोड़ा बदल रहा है। बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी इलेवन के साथ हर किसी को नीचे तक बल्लेबाज़ी का मौक़ा मिल रहा है। इस नियम के कारण ऐसा हो रहा है और बड़े स्कोर बन रहे हैं। इसमें पिच का स्वभाव और मैदान का भी असर पड़ता है। जब आपके आठवें और नौवें नंबर पर बल्लेबाज़ या बल्लेबाज़ी ऑलराउंडर आते हैं तो बल्लेबाज़ी क्रम काफ़ी बड़ा हो जाता है।”

“पावरप्ले में कोई डर नहीं होता क्योंकि आपको रन बनाने के लिए केवल सर्किल पार करानी होती है। निश्चित तौर पर काफ़ी अच्छी बल्लेबाज़ी भी हुई है और केवल इस नियम के कारण ऐसा नहीं हुआ है। कुछ शानदार स्कोरिंग और साझेदारियां हुई हैं और बल्ले से कुछ व्यक्तिगत तौर पर भी अच्छे प्रदर्शन देखने को मिले हैं।”

स्टार्क ने मुंबई के ख़िलाफ़ स्पैल की शुरुआत में ही फुल गेंद से इशान किशन के पैड को हिट किया था, लेकिन गेंद लेग स्टंप के बाहर जा रही थी। इसके बाद किशन ने उनके ख़िलाफ़ चौका और छक्का भी लगाया था। हालांकि, किशन का लेग स्टंप उड़ाते हुए स्टार्क ने बदला पूरा किया था। डेथ ओवर्स में वापसी करते हुए स्टार्क ने अंतिम ओवर में तीन विकेट चटकाए।

उन्होंने कहा, “मैं बहुत अधिक नहीं बदला हूं। पहली पारी के बाद परिस्थितियों का जायजा लेना होता है। हमने इसके बारे में बात की और पहली पारी में बल्लेबाज़ी करने वाले लोगों ने बताया था कि विकेट कैसा था और किस लेंथ को हिट करना सबसे कठिन था। इससे हमने गेंदबाज़ी का प्लान बनाया था।”

“टी20 क्रिकेट हमेशा उस तरह नहीं जाता जैसा कि आप चाहते हैं और निश्चित तौर पर मैं अच्छी शुरुआत करना चाहता था। मैं अकेला गेंदबाज़ नहीं हूं जिसे रन पड़ रहे हैं। फैक्ट यह है कि हम अंक तालिका में दूसरे स्थान पर हैं और अंत में होने वाले अहम मैचों के लिए अच्छी तैयारी कर रहे हैं। हम अच्छी क्रिकेट खेल रहे हैं और उम्मीद है कि मैं भी इसका हिस्सा बनूंगा।”

आईपीएल के समापन और टी20 विश्व कप की शुरुआत में केवल एक हफ्ते का अंतर है, लेकिन स्टार्क को वर्कलोड की चिंता नहीं है।

उन्होंने कहा, “यह टी20 क्रिकेट है और यह टेस्ट के जैसा मुश्किल नहीं है। शारीरिक तौर पर यह समस्या नहीं है और विश्व की सबसे बेहतरीन टी20 लीग में खेलना शानदार है। विश्व कप में जाने से पहले आप हाई-क्वालिटी क्रिकेट खेल रहे हैं, इस टूर्नामेंट से कई खिलाड़ी विश्व कप में जाने वाले हैं।”

स्टार्क को उम्मीद है कि टी20 विश्व कप में गेंद और बल्ले के बीच अधिक प्रतिस्पर्धा देखने को मिलेगी।

उन्होंने कहा, “अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में इंपैक्ट प्लेयर नियम नहीं होगा तो इसका स्कोर पर क्या प्रभाव पड़ेगा यह देखना होगा। मुझे लगता है कि प्रभाव पड़ेगा। जब आप किसी को ला नहीं सकते हैं तो लोग टीम में बैलेंस की बात करते हैं। ऑलराउंडर्स का प्रभाव वापस आ जाता है। जब आपके पास केवल 11 खिलाड़ी होते हैं तो कप्तान को अच्छी रणनीति के बारे में सोचना होता है। आईपीएल में इसका अनुभव करना भी रोचक है।”