विश्व प्रसिद्ध जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के 17वां संस्करण का आगाज

0
42

जयपुर, 1 फरवरी (आईएएनएस)। विश्व प्रसिद्ध जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल (जेएलएफ) का 17वां संस्करण 1 फरवरी से शुुरू हो रहा है। पहले दिन साहित्य प्रेमियों को गुलजार, रघुराम राजन और अजय जड़ेजा जैसी हस्तियों के सत्र में शामिल होने का मौका मिलेगा।

जेएलएफ का उद्घाटन राजस्थान की उपमुख्यमंत्री दीया कुमारी ने सुबह 9.30 बजे जयपुर के होटल क्लार्क आमेर में किया।

5 दिवसीय इस महोत्सव में देशभर से साहित्यकार हिस्सा ले रहे हैं। उत्सव के लिए एक नया स्थल ‘नंदघर’ भी बनाया गया है।

उत्सव का प्रारंभिक स्थल जिसे मुगल टेंट कहा जाता था, अपने नाम को लेकर विवादों में आ गया।

जेएलएफ के आयोजक संजय के रॉय ने कहा, ”गौरतलब है कि टेंट के नाम पर पिछले साल विवाद खड़ा हो गया था जब कई बीजेपी नेताओं ने इस पर आपत्ति जताई थी। हॉलीवुड में ‘मुगल’ शब्द का प्रयोग एक निश्चित जीवनशैली को देखने के लिए किया जाता है, न कि किसी धर्म या समुदाय को दर्शाने के लिए किया जाता हैै।”

जेएलएफ के पहले दिन काव्य सत्र के दौरान गीतकार गुलजार कविताएं सुनाते नजर आएंगे। भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर अजय जड़जा भी क्रिकेट से जुड़े अपने अनुभव साझा करते नजर आएंगेे। आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन भविष्य की अर्थव्यवस्था पर बात करेंगे। इसमें गायिका कलापिनी कोमकली की प्रस्तुति होगी।

इस सीजन जेएलएफ में 10 भारतीय भाषाओं और 7 अंतरराष्ट्रीय भाषाओं के साहित्यकारों को भी शामिल किया गया है। यह 2024 संस्करण के लिए 550 से अधिक वक्ताओं की मेजबानी करेगा। इनमें बुकर, इंटरनेशनल बुकर, पुलित्जर, साहित्य अकादमी, पद्मश्री, पद्म भूषण, पद्म विभूषण, बैली गिफोर्ड, डीएससी पुरस्कार, जेसीबी पुरस्कार विजेता लेखक शामिल हैं।

जेएलएफ में इतिहास, राजनीति और समसामयिक मामले, लिंग, विज्ञान और चिकित्सा, भोजन, मिथक, आध्यात्मिकता और धर्म, मानसिक स्वास्थ्य, फैशन और जीवन शैली, कानून और न्याय, भू-राजनीति, खेल, जलवायु परिवर्तन, पर्यावरण सहित कई विषयों पर चर्चा की जाएगी।