जेफरीज ने अदाणी ग्रुप के चार शेयरों में दी खरीदारी की राय

0
14

नई दिल्ली, 31 मई (आईएएनएस)। अमेरिकी निवेश फर्म जेफरीज की ओर से अदाणी ग्रुप की चार कंपनियों पर खरीदारी की राय दी गई है। इनमें अदाणी एंटरप्राइजेज, अदाणी पोर्ट, अदाणी एनर्जी सॉल्यूशंस और अंबुजा सीमेंट का नाम शामिल है।

जेफरीज द्वारा जारी की गई रिपोर्ट में बताया गया है कि वित्त वर्ष 2024 में अदाणी ग्रुप के ईबीआईटीडीए में सालाना आधार पर 40 प्रतिशत की तेजी दर्ज की गई है।

अमेरिकी फर्म ने कहा कि 2023 की शुरुआत में शॉर्ट सेलर फर्म की रिपोर्ट के बाद भी ग्रुप का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है और यह ‘सेटबैक’ को एक कमबैक के रूप में बदलने में सफलतापूर्वक कामयाब रहा है।

रिपोर्ट में बताया गया कि ग्रुप का ईबीआईटीडीए (इन्फ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में कंपनियों के मुनाफे को मापने वाला मापदंड) वित्त वर्ष 2024 में सालाना आधार पर 40 प्रतिशत बढ़ा है। वहीं, ग्रुप लेवल पर लीवरेज रेश्यो भी सुधरकर कई वर्षों के निचले स्तर पर पहुंच गया है।

रिपोर्ट में कहा गया, “वित्त वर्ष 2024 में ग्रुप का फोकस कर्ज और संस्थापकों के गिरवी शेयर कम करने पर रहा है। सालाना आधार पर ग्रुप के कुल ईबीआईटीडीए में 40 प्रतिशत का उछाल देखने को मिला है। ग्रुप ने इक्विटी के जरिए, रणनीतिक निवेशकों और डेट के माध्यम से फंड भी जुटाया है। वहीं, प्रवर्तकों ने भी हिस्सेदारी बढ़ाई है। वहीं, ग्रुप का मार्केट कैप भी फिर से पुराने स्तर पर आ गया है।”

आगे कहा गया कि ग्रुप दोबारा से कारोबार विस्तार के पथ पर आ गया है। अगले एक दशक में 90 अरब डॉलर के पूंजीगत व्यय की योजना बनाई गई है।

अदाणी एंटरप्राइजेज वित्त वर्ष 2027 तक ग्रीन हाइड्रोजन प्रोडक्शन का उत्पादन शुरू करने के लिए अपनी कैप्टिव मैन्युफैक्चरिंग क्षमता को बढ़ा रहा है। वहीं, नवी मुंबई एयरपोर्ट का कार्य वित्त वर्ष 2025 में पूरा हो सकता है। डेटा सेंटर प्रोजेक्ट्स भी रफ्तार पकड़ रहे हैं।

अदाणी पोर्ट की ओर से पांच वर्षों का बिजनेस रोड-मैप दिया गया है। इसमें वित्त वर्ष 2024 से लेकर 2029 के लिए ईबीआईटीडीए में 18 प्रतिशत सीएजीआर का लक्ष्य रखा गया है।

अदाणी एनर्जी सॉल्यूशंस के ईबीआईटीडीए में सालाना आधार पर 16 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।

अदाणी टोटल गैस के ईबीआईटीडीए में सालाना आधार पर 27 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई है। ऐसा लागत कम होने के कारण मार्जिन बढ़ने और 15 प्रतिशत वॉल्यूम में वृद्धि होने के कारण हुआ है।

जेफरीज का कहना है कि अंबुजा सीमेंट की ओर से सीमेंट कैपेसिटी को दोगुना किया जा रहा है।