तेलंगाना के मुख्‍यमंत्री रेवंत रेड्डी ने कविता की गिरफ्तारी को ‘चुनावी स्टंट’ बताया

0
28

हैदराबाद, 17 मार्च (आईएएनएस)। तेलंगाना के मुख्यमंत्री ए. रेवंत रेड्डी ने शनिवार को दिल्ली शराब नीति मामले में प्रवर्तन निदेशालय द्वारा बीआरएस एमएलसी के. कविता की गिरफ्तारी को ‘चुनावी स्टंट’ बताया।

रेवंत रेड्डी ने आरोप लगाया कि लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा से एक दिन पहले कविता की गिरफ्तारी भाजपा द्वारा खुद को भ्रष्टाचार के खिलाफ चैंपियन के रूप में प्रदर्शित करने और साथ ही अपने ‘सहयोगी’ बीआरएस के लिए कुछ सहानुभूति हासिल करने का एक प्रयास था।

यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि बीआरएस और भाजपा दोनों कांग्रेस की संभावनाओं को नुकसान पहुंचाने के लिए सस्ती राजनीतिक रणनीति का सहारा ले रहे हैं, क्योंकि सर्वेक्षणों का अनुमान है कि कांग्रेस तेलंगाना में 17 लोकसभा सीटों में से 12 सीटें जीतेगी।

रेवंत रेड्डी ने कविता की गिरफ्तारी पर बीआरएस अध्यक्ष और कविता के पिता के.चंद्रशेखर राव और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों की चुप्पी पर भी सवाल उठाया।

उन्होंने पूछा, “केसीआर ने गिरफ्तारी की निंदा नहीं की है, जबकि प्रधानमंत्री मोदी ने इसे उचित नहीं ठहराया है। उनकी चुप्पी के पीछे क्या गेम प्लान है।”

उन्होंने कहा, “जब ईडी अधिकारियों ने कविता को गिरफ्तार किया तो केसीआर उनके आवास पर नहीं गए। उन्होंने गिरफ्तारी की निंदा भी नहीं की है। जब किसी की बेटी गिरफ्तार हो जाएगी तो कौन सा पिता चुप रहेगा।”

रेवंत रेड्डी ने यह भी कहा कि केसीआर ने पार्टी नेता की गिरफ्तारी पर बीआरएस प्रमुख के रूप में भी प्रतिक्रिया नहीं दी है।

मुख्यमंत्री ने 10 वर्षों तक केसीआर सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ कुछ नहीं करने के लिए केंद्र सरकार की आलोचना की।

उन्होंने कहा कि केंद्र ने बीआरएस नेताओं के खिलाफ एक भी मामला दर्ज नहीं किया और यहां तक कि जिस मामले में कविता को गिरफ्तार किया गया है, वह दिल्ली सरकार की शराब नीति मामले से जुड़ा है, जिसमें वह कई आरोपी व्यक्तियों में से एक हैं।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो रैलियों में केसीआर के भ्रष्टाचार के बारे में बोल रहे थे, उन्हें बताना चाहिए कि उन्होंने 10 साल तक कार्रवाई क्यों नहीं की।