केरल में खिला कमल, तिरुवनंतपुरम सीट पर भी कड़ी टक्कर

0
7

तिरुवनंतपुरम, 4 जून (आईएएनएस)। भाजपा उम्मीदवार सुरेश गोपी ने त्रिशूर में 72,000 मतों के अंतर से जीत दर्ज कर ली है। केरल में आखिरकार ‘कमल’ खिल गया है। अब यह देखना बाकी है कि भाजपा तिरुवनंतपुरम में दूसरी सीट भी जीत पाती है या नहीं।

गोपी अपनी पत्नी राधिका के साथ यहां अपने घर से बाहर निकले और राधिका के हाथों मिठाई खाते हुए फोटो के लिए पोज दिया। लेकिन उन्होंने मीडिया से बात नहीं की और तस्वीरें खिंचवाने के बाद वापस लौट गए।

केरल में 20 लोकसभा सीटें हैं और 2019 के चुनावों में कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ ने 19 सीटें जीती थीं जबकि माकपा के नेतृत्व वाले वाम दल ने एक सीट जीती और भाजपा तिरुवनंतपुरम में दूसरे स्थान पर रही थी।

अब सबकी निगाहें तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट पर हैं, जहां भाजपा उम्मीदवार तथा केंद्रीय राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर लगातार चौथी बार जीत की उम्मीद कर रहे कांग्रेस नेता शशि थरूर को कड़ी टक्कर दे रहे हैं।

एक समय चंद्रशेखर ने करीब 23,000 वोटों की बढ़त बना ली थी, लेकिन जब तटीय क्षेत्रों से मतगणना के अंतिम दौर शुरू हुए, तो उनकी बढ़त छह से भी कम हो गई।

चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार, दोपहर बाद तीन बजे के बाद शशि थरूर करीब 16 हजार वोट से आगे चल रहे थे।

अट्टिंगल में मौजूदा कांग्रेस सांसद अदूर प्रकाश और माकपा विधायक वी. जॉय के बीच बेहद कड़ी टक्कर है। किस्मत दोनों तरफ से पलट रही है और हालात ऐसे हैं कि दोनों के बीच फिलहाल डेढ़ हजार से भी कम मतों का अंतर है।

माकपा के नेतृत्व वाले पिनाराई विजयन के उम्मीदवारों को कड़ी टक्कर मिल रही है और एकमात्र सीट अलथूर है पर पार्टी आगे चल रही है जहां अनुसूचित जाति/जनजाति के राज्य मंत्री के. राधाकृष्णन 20 हजार से ज्यादा वोटों से आगे चल रहे हैं।

अन्य 16 सीटों पर कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ उम्मीदवार मजबूत स्थिति में हैं, जबकि विजयन के खिलाफ बहुत मजबूत सत्ता विरोधी लहर दिख रही है।