‘भैया जी’ में उत्तर भारत के लोगों को दिखेगी उनकी संस्कृति : मनोज बाजपेयी

0
18

नई दिल्ली, 15 मई (आईएएनएस)। अपनी 100वीं फिल्म ‘भैया जी’ की रिलीज की तैयारी कर रहे मनोज बाजपेयी ने साझा किया कि लंबे समय के बाद, उत्तर भारत के लोगों को स्क्रीन पर उनका प्रतिनिधित्व, उनकी संस्कृति और अपनापन देखने को मिलेगा।

पद्म श्री पुरस्कार विजेता मनोज बाजपेयी बिहार से हैं। आईएएनएस से बात करते हुए, मनोज ने कहा, “ये वो किरदार हैं, जिन्हें लोगों ने कई बार देखा है। ये उत्तर भारत क्षेत्र से संबंधित किरदार हैं। यह संस्कृति कई सालों से प्रदर्शित हो रही है, लेकिन हां, दो दशक का अंतराल रहा है, हमने शहरी कहानियों पर ज्यादा ध्यान दिया है। ये कहानियां और किरदार कहीं पीछे छूट गए थे।”

‘साइलेंस 2’ के एक्टर ने आगे कहा, ”हम सभी बहुत उत्साहित हैं कि एक लंबे अंतराल के बाद, उत्तर भारत के लोगों को स्क्रीन पर उनका प्रतिनिधित्व, उनकी संस्कृति, जिस रिश्ते से वे बहुत परिचित हैं, वह अपनापन देखने को मिलेगा। ‘भैया जी’ में हमारी ‘मिट्टी’ की खुशबू है। जब आप पूरे मन से फिल्म बनाते हैं तो वह स्क्रीन पर भी दिखाई देती है। हमने इसको पूरे गर्व के साथ बनाया है।”

1994 की एक्शन ड्रामा ‘द्रोहकाल’ में एक मिनट की भूमिका और शेखर कपूर की ‘बैंडिट क्वीन’ में एक डाकू की छोटी भूमिका के साथ अपने फिल्मी करियर की शुरुआत करने वाले बाजपेयी ने बताया कि उन्हें इस बात की जानकारी भी नहीं थी कि उन्होंने अब तक 99 फिल्में पूरी कर ली हैं।

‘भैया जी’ उनकी 100वीं फिल्म होने पर, मनोज ने कहा, “जब हम लखनऊ में शूटिंग कर रहे थे तो निर्देशक अपूर्व सिंह कार्की मेरे पास आए और उन्होंने मुझसे कहा कि यह मेरी 100वीं फिल्म होगी। मैं सरप्राइज हो गया। जब आप पीछे मुड़कर देखते हैं, तो आप पाते हैं कि यह यात्रा कभी भी आसान नहीं थी। लेकिन, भगवान की कृपा बनी रही है। उन्होंने मुझे कुछ असफलताएं दिखाई हैं, उन्होंने मुझे आगे बढ़ने के लिए काफी सकारात्मकता और ताकत भी दी है।”

”मैंने यह तय नहीं किया था कि ‘भैया जी’ मेरी 100वीं फिल्म होगी। यह सिर्फ नियति का खेल है और मुझे खुशी है कि यह मेरी 100वीं फिल्म है। बचपन में मुझे 70 के दशक की सभी फिल्में अच्छी लगती थीं। और वे फिल्में ही हैं जिन्होंने मुझे एक्टर बनने के लिए प्रेरित किया।”

फिल्म में मनोज को रॉबिनहुड की इमेज में दिखाया गया है। वहीं, बॉलीवुड के सलमान खान ने 2010 में रिलीज हुई एक्शन कॉमेडी ‘दबंग’ में इंस्पेक्टर चुलबुल पांडे की भूमिका निभाई थी और फिल्म में खुद को रॉबिनहुड पांडे कहा था।

क्या ‘भैया जी’ सलमान की ‘रॉबिनहुड’ इमेज को तोड़ पाएंगे, इस पर मनोज ने कहा, “सलमान, शाहरुख और आमिर बहुत बड़े स्टार हैं। उनका नाम भी यहां न लाएं। हमने एक बहुत अच्छी फिल्म बनाने की कोशिश की। मुझे पता है कि हमारे हाथ में एक बहुत अच्छी फिल्म है, क्योंकि मैंने फिल्म देखी है, और मैं बस उम्मीद करता हूं और प्रार्थना करता हूं कि जो लोग सिनेमाघरों में जाएं, फिल्म देखें और ‘भैया जी’ का लुत्फ उठाएं।”

इस भूमिका को निभाने के दौरान उन्हें जिन खास तैयारियों और चुनौतियों का सामना करना पड़ा, उनके बारे में बात करते हुए मनोज ने कहा कि कोई भी किरदार आसानी से नहीं मिलता है।

मनोज ने आगे कहा, ”इसके लिए कड़ी मेहनत की जरूरत है। मेरे लिए एक्शन के लिए फिट होना, और इसे उस तरह से करना जिस तरह से एक्शन निर्देशक मुझसे कराना चाहते थे, इसके लिए बहुत ज्यादा फिजिकल फिटनेस की जरूरत थी। मेरे एक्शन डायरेक्टर मेरी प्रेरणा थे। जो भी वह मुझसे करवाना चाहते थे, वह जो भी मुझे हासिल करवाना चाहते थे, मैंने बस उसके निर्देशों का पालन किया।”

भानुशाली स्टूडियोज लिमिटेड, एसएसओ प्रोडक्शंस और ऑरेगा स्टूडियोज प्रोडक्शन के बैनर तले विनोद भानुशाली, कमलेश भानुशाली, समीक्षा ओसवाल, शैल ओसवाल, शबाना रजा बाजपेयी और विक्रम खाखर द्वारा निर्मित यह फिल्म 24 मई को रिलीज होगी।