उमर अब्दुल्ला ने इंजीनियर राशिद को रिहा करने की मांग की

0
14

श्रीनगर, 24 जून (आईएएनएस)। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने सोमवार को लोकसभा के लिए चुने गये सांसद इंजीनियर राशिद को रिहा करने की मांग की है। वह आतंकवाद के लिए पैसे उपलब्ध कराने के एक मामले में 2019 से दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद हैं।

इंजीनियर राशिद ने पिछले दिनों हुए लोकसभा चुनाव में उत्तरी कश्मीर की बारामूला सीट से उमर अब्दुल्ला को दो लाख से ज्यादा वोटों से हराया था। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आतंकवाद के वित्त पोषण के एक मामले में उन्हें गिरफ्तार किया था।

उमर अब्दुल्ला ने एक्स पर लिखा, “मैं जम्मू-कश्मीर के लोगों का प्रतिनिधित्व करने वाले तथा अन्य सांसदों को बधाई देता हूं जो आज शपथ ले रहे हैं। यह हमारे लोकतंत्र के लिए महत्वपूर्ण अवसर है।”

उन्होंने लिखा कि इस बात को स्वीकार करना जरूरी है कि उत्तरी कश्मीर के लोगों ने इंजीनियर राशिद को चुना है और उन्हें लोकसभा की सदस्यता की शपथ लेने तथा अपने निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलना चाहिए।

पूर्व मुख्यमंत्री ने लिखा, “साथ ही जेल में बंद उन लोगों के साथ हो रहे अन्याय को भी स्वीकार करना जरूरी है जो चुनाव लड़ने में असमर्थ या इसके लिए अनिच्छुक हैं।”

उन्होंने कहा कि एनसी के सांसद जोरशोर से इंजीनियर राशिद समेत सभी कैदियों के लिए न्याय की मांग करेंगे।

उमर अब्दुल्ला ने कहा, “हम इन कैदियों की रिहाई तक उन्हें दूसरे राज्यों की जेलों से जम्मू-कश्मीर की जेलों में स्थानांतरित करने की मांग करेंगे। गत 5 अगस्त 2019 के बाद गिरफ्तार सभी कैदियों के लिए सार्वजनिक माफी हमारी सबसे बड़ी मांगों में से एक होगी।”

लोकसभा में एनसी के दो सांसद अनंतनाग-राजौरी सीट से मियां अल्ताफ अहमद और श्रीनगर सीट से सैयद रुहुल्ला मेहदी हैं।

इंजीनियर राशिद ने दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट के समक्ष अंतरिम जमानत की अर्जी दी है। इस पर 1 जुलाई को सुनवाई होनी है।