कठुआ में सुरक्षा बलों का बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान, दो दर्जन से अधिक हिरासत में

0
8

जम्मू, 10 जुलाई (आईएएनएस)। जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में सोमवार को सेना के वाहन पर घात लगाकर हमला करने वाले आतंकवादियों का पता लगाने के लिए सुरक्षा बल व्यापक तलाशी अभियान चला रहे हैं। तीन दिनों में अब तक दो दर्जन से अधिक लोगों को पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

कठुआ, उधमपुर और भद्रवाह के तीन अलग-अलग हिस्सों से यह अभियान जारी है। इन इलाकों में रुक-रुक कर हो रही बारिश के बावजूद अभियान चल रहा है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आतंकवादी अभी भी कठुआ जिले के बदनोटा गांव से सटे जंगली इलाके में छिपे हुए हैं। बता दें कि यहीं पर सोमवार को हुए आतंकवादी हमले में पांच सैनिक मारे गए थे और पांच अन्य घायल हो गए थे।

सूत्रों ने बताया कि हिरासत में लिए गए लोगों से आतंकवादी हमले के बारे में पूछताछ की जा रही है। उम्मीद है कि उनसे पूछताछ में कुछ महत्वपूर्ण सुराग सामने आएंगे।

उधमपुर, सांबा, पुंछ और राजौरी जिलों के जंगली इलाकों में भी पर्याप्त संख्या में पुलिस और अर्धसैनिक बलों को तैनात किया गया है। तलाशी अभियान राजौरी और पुंछ जिलों में भी चल रहा है।

सेना के पैरा कमांडो घने जंगलों में सर्जिकल स्ट्राइक करने में माहिर हैं, वो कठुआ के जंगलों में तैनात हैं। तलाशी अभियान में ड्रोन, खोजी कुत्ते, हेलीकॉप्टर, मेटल डिटेक्टर की मदद ली जा रही है।

डोडा जिले के गांधी भगवा के जंगलों में भी तलाशी अभियान चल रहा है।

कठुआ के बदनोटा गांव के ग्रामीण अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। सोमवार को हुआ आतंकी हमला इस शांतिपूर्ण इलाके में पहला आतंकी हमला था। यह इलाका कठुआ शहर से करीब 150 किलोमीटर दूर है। सुरक्षा बलों का मानना ​​है कि बदनोटा गांव के पास सोमवार को घात लगाकर हमला करने वाले दो आतंकवादी घायल हो गए थे और वे इस अवस्था में बहुत दूर नहीं जा सकते।

सभी वाहनों की पूरी जांच की जा रही है। यात्रा करने वाले प्रत्येक व्यक्ति की सही पहचान और तलाशी के बाद ही जाने दिया जा रहा है।