13 मई के लोकसभा चुनाव में गुजरात और तेलंगाना टीमों के बीच लड़ाई : सीएम रेवंत रेड्डी

0
16

खम्मम (तेलंगाना), 4 मई (आईएएनएस)। मुख्यमंत्री ए. रेवंत रेड्डी ने शनिवार को दावा किया कि देश के लोग कांग्रेस नेता राहुल गांधी को प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं । उन्‍होंने 13 मई के लोकसभा चुनाव को गुजरात और तेलंगाना टीमों के बीच लड़ाई करार दिया।

कोठागुडेम में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने केंद्र में भाजपा की सरकार के रहते इस बार के लोकसभा चुनाव को अंतिम चुनाव करार दिया।

विधानसभा चुनाव का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सेमीफाइनल में बीआरएस टीम को हराया और अब 13 मई को होने वाला लोकसभा चुनाव गुजरात और तेलंगाना टीमों के बीच लड़ाई है।

खम्मम में हाल ही में एक जनसभा में बीआरएस नेता के.सी. राव की भविष्यवाणी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, “हम फाइनल में मोदी को हरा देंगे।” के.सी. राव ने कहा था कि केंद्र में गठबंधन सरकार बनेगी और खम्मम से बीआरएस उम्मीदवार नामा नागेश्‍वर राव मंत्री बनेंगे। सीएम रेवंत रेड्डी ने पूछा कि के.सी. राव किस गठबंधन में शामिल होंगे।

कांग्रेस द्वारा केसीआर को इंडिया गठबंधन में स्वीकार किए जाने से इनकार करते हुए सीएम रेवंत रेड्डी ने दावा किया कि बीआरएस नेता भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल होंगे।

उन्होंने कहा कि बीआरएस ने भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के किसान विरोधी कानूनों का समर्थन किया और नागरिकता (संशोधन) अधिनियम और तीन तलाक पर प्रतिबंध लगाने वाले विधेयक का भी समर्थन किया था।

उन्होंने आरोप लगाया कि बीआरएस और भाजपा ने कांग्रेस को हराने के लिए साजिश रची है और लोगों से खम्मम और महबूबाबाद निर्वाचन क्षेत्रों से सबसे पुरानी पार्टी के उम्मीदवारों को हराने का आह्वान किया है।

उन्होंने भरोसा जताया कि कांग्रेस उम्मीदवार खम्मम सीट पर देश में सबसे अधिक बहुमत से जीतेंगे।

सीएम रेवंत रेड्डी ने कहा कि खम्मम जिला जन आंदोलनों की भूमि है, चाहे वह किसानों के अधिकारों के लिए हो या श्रमिकों के लिए। उन्होंने याद दिलाया कि 1969 में तेलंगाना आंदोलन खम्मम जिले के पलवंचा से शुरू हुआ था।

उन्होंने खम्मम के लोगों की राजनीतिक बुद्धिमत्ता की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने 2014, 2019 और 2023 में लगातार तीन चुनावों में बीआरएस को दूर रखा।

सीएम रेवंत रेड्डी ने याद किया कि खम्मम जिले के लोगों ने 2014 और 2019 के चुनावों में बीआरएस को सिर्फ एक विधानसभा सीट दी थी।

उन्होंने कहा कि हाल के चुनावों में भी उन्होंने लोगों के दबाव में बीआरएस को एक सीट दी; एकमात्र बीआरएस विधायक भी कांग्रेस में शामिल हो गए।

उपमुख्यमंत्री मल्लू भट्टी विक्रमार्क ने कहा कि सभी बाधाओं के बावजूद कांग्रेस सरकार सभी छह गारंटियां लागू करेगी।

उन्होंने कहा कि सीएम रेवंत रेड्डी ने आरक्षण के मुद्दे पर कुछ भी गलत नहीं कहा, लेकिन उनके खिलाफ झूठा मामला दर्ज किया गया और उन्हें दिल्ली बुला लिया गया।

उन्होंने कहा कि वे ऐसे मामलों से डरने वाले नहीं हैं।

कोठागुडेम से सीपीआई विधायक के. संबाशिव राव, कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी, राज्य के मंत्री टी.एन. राव और पी. श्रीनिवास रेड्डी ने भी जनसभा को संबोधित किया और लोगों से खम्मम से आर. रघुरामी रेड्डी को चुनने की अपील की।