पीएम मोदी ने पूर्वोत्तर की स्थिति की समीक्षा की

0
7

नई दिल्ली, 2 जून (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को एक उच्च स्तरीय बैठक में पूर्वोत्तर के राज्यों में चक्रवाती तूफान के बाद की स्थिति की समीक्षा की।

लोकसभा चुनाव समाप्त होने के बाद प्रधानमंत्री आज कई बैठकें करने वाले हैं। इसी क्रम में यह पहली बैठक थी।

पूर्वोत्तर के आठ राज्यों में से चार में चक्रवाती तूफान रेमल के बाद हुई बारिश और भूस्खलन के कारण कम से कम 36 लोगों की जान चली गई है। तूफान के कारण आम जनजीवन भी लगभग थम गया है।

मिजोरम में सबसे ज्यादा 27 लोगों की मौत हुई है। इसमें अकेले आइजॉल जिले में एक खदान धंसने से 21 लोगों की जान चली गई। नागालैंड में चार, असम में तीन और मेघालय में दो लोगों की मौत की सूचना है।

तेज हवाओं के साथ हुई बारिश की वजह से भूस्खलन हुआ, पेड़ और बिजली के खंभे उखड़ गये, तथा बिजली आपूर्ति और इंटरनेट सेवाएं बाधित हुईं।

पीएम मोदी देश के विभिन्न हिस्सों में चल रही लू की स्थिति की समीक्षा के लिए भी आज एक बैठक करेंगे। उत्तर तथा मध्य भारत के ज्यादातर राज्यों में लू चल रही है। कई शहरों में पारा 45 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया है।

सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री बड़े पैमाने पर विश्व पर्यावरण दिवस के आयोजन की तैयारियों की समीक्षा के लिए भी आज एक बैठक करेंगे। वह नई सरकार के पहले 100 दिन के एजेंडा पर मंथन के लिए भी एक बैठक की अध्यक्षता करेंगे।

अधिकतर एग्जिट पोल सर्वेक्षणों में भाजपा नीत एनडीए को लोकसभा चुनाव में 350 से ज्यादा सीटें मिलने की संभावना जताई गई है। इसे देखते हुए प्रधानमंत्री अपने तीसरे कार्यकाल के लिए 100 दिन का एजेंडा तय करने पर आज से ही काम शुरू कर रहे हैं।