उड़ानों में व्यवधान पर डीजीसीए ने विस्तारा से मांगी रिपोर्ट

0
16

नई दिल्ली, 2 अप्रैल (आईएएनएस)। हाल में उड़ानों मेंं आए व्यवधान पर नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने टाटा और एसआईए एयरलाइंस के संयुक्त उद्यम विस्तारा एयरलाइंस से जवाब मांगा है।

डीजीसीए ने एयरलाइंस को “बोर्डिंग से इनकार करने, उड़ानों को रद्द करने और उड़ानों में देरी के कारण एयरलाइंस द्वारा यात्रियों को प्रदान की जाने वाली सुविधाएं सुनिश्चित करने को कहा है। डीजीसीए के महानिदेशक विक्रम देव दत्त ने कहा कि उड़ानों की अग्रिम सूचना, यात्रियों को रिफंड का विकल्प, मुआवजा (यदि लागू हो) आदि सुनिश्चित किया जाए।

दत्त ने कहा, “डीजीसीए अधिकारी उपरोक्त सीएआर का अनुपालन सुनिश्चित करने और यात्री असुविधा को कम करने के लिए स्थिति की निगरानी कर रहे हैं।”

नागरिक उड्डयन मंत्रालय विस्तारा की उड़ानों के रद्द होने कारणों की जांच-पड़ताल कर रहा है। डीजीसीए ने एक्स पर कहा कि उड़ान रद्द होने या देरी के मामले में यात्री सुविधा सुनिश्चित करने के लिए एयरलाइंस को डीजीसीए मानदंडों का पालन करना होगा।

सोमवार को, एयरलाइंंस ने कहा था कि चालक दल की अनुपलब्धता व अन्य कारणों से हाल में उड़ानेंं रद्द हुईं और देरी हुई।

एयरलाइंंस के एक प्रवक्ता ने कहा,”हम यात्रियों को होने वाली असुविधा के बारे में चिंतित हैं।”

प्रवक्ता ने यह भी कहा कि एयरलाइंस ग्राहकों की असुविधा कम करने के लिए काम कर रहा है।

एयरलाइंंस ने कहा,”हमने अपने नेटवर्क में पर्याप्त कनेक्टिविटी सुनिश्चित करने के लिए उड़ानों की संख्या में अस्थायी रूप से कमी का निर्णय लिया है। हमने चुनिंदा घरेलू मार्गों पर बड़े विमान भी तैनात किए हैं।”