पायलटों के विरोध के चलते विस्तारा की मंगलवार को 52 उड़ानें रद्द

0
12

नई दिल्ली, 2 अप्रैल (आईएएनएस)। एयर इंडिया के साथ विलय के एयरलाइन के फैसले के बाद नए अनुबंध की शर्तों के विरोध में कई पायलटों के छुट्टी पर रहने के कारण मंगलवार को विस्तारा की कुल 52 उड़ानें रद्द कर दी गई।

सूत्रों ने आईएएनएस को बताया, “विस्तारा के पायलट्स द्वारा एक साथ छुट्टी पर चले जाने का अनुरोध कंपनी की तरफ से पेश किया गया नया सैलरी स्ट्रक्चर है।”

अप्रैल में लागू हुए नए अनुबंध की शर्तों के तहत, विस्तारा के पायलटों को 70 घंटों की बजाय अब 40 घंटों के लिए एक निश्चित वेतन दिया जाएगा।

यह बदलाव टाटा समूह की एयरलाइनों में अपनाई गई मानकीकृत सैलरी स्ट्रक्चर के अनुरूप है। कई ऑफिसर्स को डर है कि इस समायोजन से उनकी कमाई पर नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

पिछले कुछ दिनों से पायलटों की चल रही सामूहिक छुट्टी के कारण कई उड़ानें या तो रद्द हुई हैं या देरी से चली हैं।

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने मंगलवार को विस्तारा एयरलाइंस से उड़ानें रद्द और देरी से चलने के संबंध में विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने एक्स पर लिखा, ”मंत्रालय विस्तारा उड़ान रद्द होने की स्थिति पर नजर रख रहा है। हालांकि, उड़ान संचालन का प्रबंधन एयरलाइंस द्वारा खुद किया जाता है। उड़ानों के रद्द होने या देरी की स्थिति में यात्री सुविधा सुनिश्चित करने के लिए एयरलाइंस को डीजीसीए मानदंडों का पालन करना होगा।”

एयरलाइन ने सोमवार को कहा था कि चालक दल की अनुपलब्धता और अन्य कारकों के चलते इसकी उड़ानें रद्द हो रही हैं या देरी से चल रही हैं।