इंदिरा गांधी के हत्यारे के बेटे सरबजीत सिंह खालसा और अमृतपाल सिंह जीते

0
6

चंडीगढ़, 4 जून (आईएएनएस)। पंजाब की 13 सीटों में से आधे से ज्यादा पर कांग्रेस जीत की तरफ बढ़ रही है। वहीं दो निर्दलीय उम्मीदवार काउंटिंग के शुरुआती चरणों से ही अपने निर्वाचन क्षेत्रों में लगातार बढ़त बनाए हुए थे। अब वो जीत गए हैं।

पंजाब की खडूर साहिब सीट से निर्दलीय उम्मीदवार ‘वारिस पंजाब दे’ के प्रमुख अमृतपाल सिंह वर्तमान में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद हैं। अमृतपाल सिंह ने कांग्रेस उम्मीदवार कुलदीप सिंह जीरा को 1,97,120 वोटों से हराकर सीट पर जीत हासिल कर ली है।

अमृतपाल सिंह को 4,04,430 वोट मिले, जबकि जीरा को 2,07,310 वोट मिले। आम आदमी पार्टी के लालजीत सिंह भुल्लर 1,94,836 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रहे। जबकि भाजपा के मनजीत सिंह मन्ना को केवल 86,373 वोट मिले।

फरीदकोट सीट पर प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के हत्यारों में से एक के बेटे सरबजीत सिंह खालसा ने जीत हासिल कर ली है। उन्होंने आप उम्मीदवार करमजीत सिंह अनमोल को 70,053 वोटों से हराया। सरबजीत सिंह खालसा को कुल 2,98,062 वोट मिले, जबकि अनमोल 2,28,009 वोट मिले। वहीं कांग्रेस की अमरजीत कौर साहोके 1,60,357 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रहीं।

इसके अलावा भाजपा के हंस राज हंस कुल 1,23,533 वोट के साथ पांचवें स्थान पर रहे।