भारत के खिलाफ मुकाबले में ‘अपनी क्षमताओं पर भरोसा’ करे पाकिस्तान :बाबर आजम

0
16

डलास, 2 जून (आईएएनएस)। पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने कहा है कि भारत के खिलाफ नौ जून के टी 20 विश्व कप मुकाबले के लिए उनकी टीम को धैर्य और संयम रखना होगा और अपनी क्षमताओं पर भरोसा करना होगा ।

पाकिस्तान विश्व कप में अपने अभियान की शुरुआत 6 जून को डलास में सह मेजबान अमेरिका के खिलाफ मैच से करेगा।

भारत और पाकिस्तान इससे पहले टी 20 विश्व कप में सात बार भिड़ चुके हैं- 2007 में फ़ाइनल सहित दो बार, 2012, 2014, 2016, 2021 और 2022 में एक-एक बार, भारत सभी मौकों पर जीत चुका है केवल 2021 में दुबई में भिड़ंत को छोड़कर, जहां भारत को पाकिस्तान से 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था।

आजम ने पीसीबी पॉडकास्ट के नवीनतम संस्करण में कहा,“भारत-पकिस्तान मैच की हमेशा चर्चा रहती है।आप दुनिया में कहीं भी चले जाओ, इसकी चर्चा रहती है। खिलाड़ियों में भी रोमांच रहता है। हर कोई अपने देश का समर्थन करता है इसलिए सारा फोकस उस मैच पर रहता है।”

आजम ने कहा,”पूरी दुनिया की नजर उस दिन पर रहती है जिस दिन भारत-पाकिस्तान का मैच होता है। स्वाभाविक रूप से, घबराहट होगी, लेकिन हमें अपना ध्यान केंद्रित रखने, बुनियादी बातों पर टिके रहने और आसान क्रिकेट खेलने की जरूरत है। यह हमेशा दबाव का मैच होता है। जितना अधिक आप शांत रहेंगे, अपने कौशल और कड़ी मेहनत पर विश्वास करेंगे, चीजें आसान हो जाएंगी।”

अमेरिका की परिस्थितियों में खेलने की चुनौती के बारे में पूछे जाने पर आजम ने कहा, “अमेरिका की परिस्थितियां चुनौतियां पैदा कर सकती हैं क्योंकि हम पहली बार एक राष्ट्रीय टीम के रूप में वहां जा रहे हैं। हम वहां खेलने वाले खिलाड़ियों से विभिन्न क्रिकेट और मैच संबंधी जानकारी एकत्र करने की प्रक्रिया में हैं, जो हमारी तैयारियों में मदद कर सकती है।”

भारत में 2023 एकदिवसीय विश्व कप में टीम के लीग चरण से बाहर होने और शीर्ष पद से हटने के बाद, आजम एक वैश्विक आयोजन में पाकिस्तान की कप्तानी करने के लिए वापस आ गए हैं। दाएं हाथ के बल्लेबाज का लक्ष्य 2022 टी20 विश्व कप में इंग्लैंड से उपविजेता होने के बाद, प्रतिष्ठित ट्रॉफी हासिल करने के लिए एक कदम आगे बढ़ने का है।

“मैं खुश और उत्साहित हूं क्योंकि जब आप किसी बड़े कार्यक्रम में खेलने जाते हैं तो आपके अंदर एक अलग ही उत्साह होता है। किसी भी क्रिकेटर का लक्ष्य विश्व कप में खेलना होता है, इसलिए मेरे मन में इस तरह की भावना आ रही है। उम्मीद हमेशा ट्रॉफी उठाने की होती है, लेकिन ऐसा करने के लिए हमें हर टीम के खिलाफ शीर्ष क्रिकेट खेलना होगा।”

“पिछले दो आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप में हमारा प्रदर्शन अच्छा रहा है। दुर्भाग्यवश, हम उच्च स्तर पर समापन नहीं कर सके। हम एसीसी टी20 एशिया कप 2022 में भी उपविजेता रहे थे। इसलिए,हम इस बारे में सोच रहे हैं कि हमने दो फाइनल और एक सेमीफाइनल कैसे खेला है और हम उन गलतियों से कैसे उबर सकते हैं जिन्होंने हमारे अभियान को पटरी से उतार दिया। ”

“प्रयास हमारे हाथ में है, लेकिन परिणाम, हम नहीं जानते। हम खुद को जमीन पर कैसे पेश करते हैं, हमारी शारीरिक भाषा और हम एक-दूसरे के साथ कैसे संवाद करते हैं, यह मायने रखेगा। हमें सकारात्मक रहना चाहिए, इसलिए परिणाम आएंगे।”

उन्होंने निष्कर्ष निकाला, “एक बल्लेबाज के रूप में, मैंने अच्छी उपलब्धि हासिल की है और एक कप्तान के रूप में, मैंने कुछ सीरीज़ जीती हैं। लेकिन आईसीसी ट्रॉफी उठाना एक अलग प्रेरणा है। आप एक अलग स्तर पर जाते हैं और खूब तारीफ पाते हैं. इसलिए, प्रेरणा, आकांक्षा और सपना आईसीसी ट्रॉफी उठाकर पाकिस्तान को पेश करना है। ”