मांजरेकर ने हार्दिक पांड्या को शिवम दुबे के मुकाबले चुना

0
12

नई दिल्ली, 1 जून (आईएएनएस)। पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने कहा है कि वह टी 20 विश्व कप के लिए हार्दिक पांड्या को उनके अंतर्राष्ट्रीय रिकॉर्ड के कारण शिवम दुबे के मुकाबले चुनेंगे।

2016 में भारतीय टीम में आने के बाद से पांड्या ने सभी फॉर्मेट में आलराउंड प्रदर्शन किया है। हालांकि 2018 में एशिया कप में पीठ की चोट और 2019 विश्व कप में सर्जरी के कारण वह अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में नहीं लौट पाए और 2021 टी 20 विश्व कप में वह सिर्फ एक बल्लेबाज के रूप में खेले जहां भारत सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंच पाया।

भारत के लिए खेले 92 टी 20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में पांड्या ने 1348 रन बनाने के अलावा 73 विकेट भी लिए।

मांजरेकर ने कहा,”मेरा वोट हमेशा हार्दिक पांड्या के लिए रहेगा। मैं जानता हूं कि इस बार आईपीएल उनके लिए काफी शांत रहा लेकिन भारत के आखिरी टी 20 विश्व कप में एडिलेड में इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी मैच में हार्दिक ने लगभग 30 या 33 गेंदों में 190 के स्ट्राइक रेट से 60 रन बनाये जबकि भारत ने पहले 10 ओवरों में 62 रन ही बनाये थे। जब टी20 विश्व कप और बड़े इवेंट्स की बारी आती है तो आप उन खिलाड़ियों का समर्थन करते हैं जो बड़े स्तर पर चमके हों। ”

उन्होंने कहा,” मेरे लिए हमेशा हार्दिक पांड्या या ऋषभ पंत जैसे खिलाड़ी शिवम दुबे जैसे लोगों से आगे रहेंगे जब तक शिवम बड़े मंच पर परफॉर्म नहीं कर लेते।”

गेंदबाजी के मोर्चे पर, पूर्व बल्लेबाज ने कहा कि पांड्या पांचवें गेंदबाज के रूप में नहीं खेल सकते हैं और छठे गेंदबाजी विकल्प के रूप में आने वाले ऑलराउंडर के रूप में स्पिन-हैवी प्लेइंग 11 के लिए बल्लेबाजी कर सकते हैं।

उनका हालिया फॉर्म बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों मोर्चों पर भारतीय टीम के लिए चिंता का विषय है। पांड्या ने 11 विकेट लिए, ज्यादातर आईपीएल 2024 के अंत में। उन्होंने जिन 14 मैचों में बल्लेबाजी की, उनमें ऑलराउंडर ने 18 की औसत से केवल 216 रन बनाए।

मांजरेकर ने कहा,“हार्दिक पांड्या आपके 5वें गेंदबाज नहीं हो सकते। मुझे लगता है कि भारत के पास छठे गेंदबाज के रूप में हार्दिक पांड्या होना चाहिए क्योंकि उन्होंने इतनी गेंदबाजी की है और सभी फिटनेस समस्याओं के साथ । इसलिए मैं स्पिन पर थोड़ा अधिक ध्यान देना चाहूंगा, क्योंकि जब आप भारत की सीम गुणवत्ता को देखते हैं, तो वहां ज्यादा गहराई नहीं है। अगर मोहम्मद शमी होते तो भारत के गेंदबाजी आक्रमण का स्वरूप पूरी तरह से बदल जाता। इसलिए, जब आपके पास स्पिनिंग के कुछ अच्छे विकल्प हों, तो मैं अतिरिक्त स्पिनर के लिए जाना पसंद करूंगा।”

भारत 5 जून को उसी स्थान पर आयरलैंड के खिलाफ टी20 विश्व कप का पहला मैच खेलने से पहले रविवार को न्यूयॉर्क में एक अभ्यास मैच में बांग्लादेश से भिड़ेगा।