संदेशखाली की महिलाओं का शोषण करने वाले होंगे सलाखों के पीछे : पीएम मोदी

0
12

कोलकाता, 4 अप्रैल (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि जो लोग संदेशखाली की महिलाओं के उत्पीड़न के जिम्मेदार हैं, उनको अब अपना बाकी जीवन सलाखों के पीछे बिताना होगा।

कूचबिहार में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “हाल ही में पूरे देश ने देखा कि कैसे टीएमसी और राज्य सरकार ने संदेशखाली की महिलाओं का शोषण करने वाले लोगों को बचाया। लेकिन, मैं कहना चाहता हूंं कि उऩ्हें किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। जिन लोगों ने इस जघन्य अपराध को अंजाम दिया है, उन्हें अब अपना शेष जीवन सलाखों के पीछे बिताना होगा।”

पीएम ने चेताया कि संदेशखाली में जो कुछ भी हुआ है, उसकी भारी कीमत टीएमसी को चुकानी होगी।

उन्होंने कहा, “संदेशखाली की महिलाओं के साथ जो कुछ भी हुआ है, उसका जिम्मेदार कोई और नहीं, बल्कि टीएमसी ही है। टीएमसी को इसके लिए भारी कीमत चुकानी होगी।”

इसके अलावा प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी केंद्र सरकार की योजनाओं का फायदा प्रदेश की जनता को नहीं होने दे रही हैं। ममता बनर्जी इन लाभकारी योजनाओं को प्रदेश में लागू ही नहीं होने दे रही हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, “पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य में आयुष्मान योजना लागू नहीं होने दिया। अगर पश्चिम बंगाल का कोई व्यक्ति बीमार होता है, तो वह आयुष्मान कार्ड से मुंबई के किसी भी अस्पताल में अपना उपचार करवा सकता है। जो लोग पश्चिम बंगाल के बाहर इलाज कराना चाहते हैं, उन्हें इलाज की सुविधा मिल जाती, अगर उन्हें आयुष्मान भारत सुविधाओं का लाभ उठाने की अनुमति दी जाती। लेकिन मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता को इस योजना के लाभ से वंचित रखा।”

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार प्रदेश के लोगों के हित के लिए कई योजनाएं लेकर आई। उनके लिए फंड आवंटित किए, लेकिन प्रदेश सरकार ने बाधा उत्पन्न कर इसे अपने यहां लागू नहीं होने दिया।

उन्होंने कहा, “आगामी लोकसभा चुनाव टीएमसी को माकूल जवाब देने का बिल्कुल सही समय है।”

उन्होंने कहा, “लिहाजा, मैं सभी मतदाताओं से अपील करता हूं कि वो मतदान के दिन कतार में लगकर विपक्ष को उचित जनादेश दें।”