द्रमुक मंत्री की टिप्पणी से नाराज है तमिलनाडु कांग्रेस

0
18

चेन्नई, 28 जनवरी (आईएएनएस)। तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी वरिष्ठ द्रमुक नेता और राज्य के मंत्री राजा कन्नप्पन के एक बयान से नाराज है। दरअसल, उन्होंने कहा था कि कांग्रेस कुछ नहीं कर रही है, बल्कि ज्यादा सीटें मांग रही है।

कन्नप्पन ने हाल ही में एक कार्यक्रम में कहा था, “तमिलनाडु में कांग्रेस लोगों के कल्याण और फायदे के लिए कुछ नहीं कर रही है। इसके बजाय चुनाव के समय वे आते हैं और सीटें मांगते हैं।”

तमिलनाडु के लोग कांग्रेस को कोई महत्व नहीं दे रहे हैं क्योंकि पार्टी को केवल चुनावों के मद्देनजर सीटें मांगते हुए देखा गया है। मंत्री का यह भाषण सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने आईएएनएस से कहा कि चुनाव की दहलीज पर मंत्री का इस तरह बोलना पार्टी के लिए मुश्किलें पैदा कर रहा है। तमिलनाडु में द्रमुक-कांग्रेस गठबंधन अच्छी स्थिति में है। द्रमुक के एक वरिष्ठ नेता के इस तरह का गैर-जिम्मेदाराना बयान अच्छे इरादे से नहीं दिया गया।

कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि द्रमुक के विपरीत कांग्रेस एक पैन इंडिया पार्टी है और व्यापक गठबंधन के हिस्से के रूप में कांग्रेस को सीटें दी गईं। कांग्रेस पहले ही द्रमुक अध्यक्ष और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन को अपना विरोध बता चुकी है।

2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने 10 सीटों पर चुनाव लड़ा और नौ पर जीत हासिल की। वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ईवीकेएस इलांगोवन थेनी लोकसभा सीट पर अन्नाद्रमुक उम्मीदवार ओपी रवींद्रनाथन से हार गए। गौरतलब है कि 2019 के आम चुनाव में द्रमुक फ्रंट हारी हुई यह एकमात्र सीट थी।

–आईएएनएस

एफजेड/एसकेपी