सरकार गिराने की साजिश विफल करने के लिए कड़े फैसले लेने होंगे: तेलंगाना सीएम

0
18

हैदराबाद, 17 मार्च (आईएएनएस)। तेलंगाना के मुख्यमंत्री ए. रेवंत रेड्डी ने भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर तख्ता पलट की साजिश का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा कि उन्हें इसे विफल करने के लिए कुछ कड़े फैसले लेने होंगे।

उन्होंने यह भी कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू होने के साथ ही उन्होंने कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में अपनी राजनीतिक भूमिका शुरू कर दी है।

उन्होंने कहा, “आज से मैंने राजनीतिक भूमिका निभानी शुरू कर दी है। चूँकि चुनावी बिगुल बज चुका है, मैं अब राजनीतिक दल के अध्यक्ष के रूप में अपनी राजनीतिक भूमिका दिखाऊँगा।”

‘प्रेस से मिलें’ कार्यक्रम में उनकी टिप्पणी बीआरएस के एक मौजूदा सांसद और एक मौजूदा विधायक के कांग्रेस पार्टी में शामिल होने से कुछ मिनट पहले आई थी।

मुख्यमंत्री के रूप में रविवार को 100 दिन पूरे करने वाले रेवंत रेड्डी ने कहा कि बीआरएस और भाजपा दोनों के नेता उनकी सरकार के भविष्य पर एक ही भाषा बोल रहे हैं। भाजपा सांसद लक्ष्मण की भविष्यवाणी कि “लोकसभा चुनाव के बाद काँग्रेस सरकार गिर जाएगी” का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि बीआरएस नेता कादियाम श्रीहरि ने भी पहले इसी तरह का बयान दिया था।

उन्होंने कहा, “बीआरएस के पास 38 विधायक हैं और भाजपा के पास आठ विधायक हैं। बिना कुछ और हथकंडे अपनाए वे सरकार कैसे बना सकते हैं? जब वे सरकार के खिलाफ साजिश रच रहे हैं तो क्या हम चुप रहेंगे?”

उन्होंने दावा किया कि 100 दिन में सरकार ने सुशासन देने की कोशिश की और दलबदल को प्रोत्साहित करने का कोई प्रयास नहीं किया। उन्होंने कहा, “मुख्यमंत्री के रूप में 100 दिन तक, मैंने केवल शासन पर ध्यान केंद्रित किया। रोजाना 18 घंटे काम करके मैंने पारदर्शी शासन देने की कोशिश की।”

केसीआर के 10 साल के शासन की तुलना निज़ाम के शासन से करते हुए रेवंत रेड्डी ने आरोप लगाया कि निज़ाम की तरह केसीआर ने भी निरंकुश तरीके से काम किया। उन्होंने कहा कि 3 दिसंबर 2023 (जब विधानसभा चुनाव परिणाम घोषित हुए) का महत्व 17 सितंबर, 1948 के समान है, जब हैदराबाद राज्य को निज़ाम के शासन से मुक्ति मिली थी।

रेवंत रेड्डी ने कहा कि सरकार एक के बाद एक गारंटी लागू कर रही है और गरीबों को उनका लाभ सुनिश्चित कर रही है। पद सँभालते ही उन्होंने महिलाओं के लिए मुफ्त बस यात्रा सुविधा उपलब्ध कराने की गारंटी लागू की। सरकार 500 रुपये में रसोई गैस सिलेंडर की योजना भी लागू कर रही है। अब तक आठ लाख परिवारों को 500 रुपये में गैस सिलेंडर मिल चुका है।

रेवंत रेड्डी ने कहा कि सरकार प्रति माह 200 यूनिट तक मुफ्त बिजली की गारंटी भी लागू करेगी। उन्होंने दावा किया कि इससे 39 लाख परिवारों को फायदा हुआ है।

एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि सरकार फिजूलखर्ची पर रोक लगाकर और जीएसटी संग्रह में सुधार करके राज्य की वित्तीय स्थिति को पटरी पर लाने की कोशिश कर रही है। उन्हें उम्मीद जताई कि राज्य राजस्व संग्रह में सुधार करके सालाना 12 हजार करोड़ रुपये अतिरिक्त जुटा सकता है।