टी20 में ऑस्ट्रेलिया के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने वॉर्नर

0
10

ब्रिजटाउन (बारबाडोस), 6 जून (आईएएनएस)। सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर पूर्व कप्तान आरोन फिंच को पीछे छोड़ते हुए टी20 में ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं।

वॉर्नर, जो अपना अंतिम टी20 विश्व कप खेल रहे हैं, ने गुरुवार को केंसिंग्टन ओवल में ओमान के खिलाफ़ अपने पहले मैच में यह उपलब्धि हासिल की।

​​उन्होंने 51 गेंदों पर छह चौकों और एक छक्के की मदद से 56 रनों की पारी खेली और अपने पूर्व बल्लेबाजी साथी को पीछे छोड़ दिया।

ऑस्ट्रेलिया के लिए 104 मैचों में वॉर्नर ने 33.92 की औसत से 3,155 रन बनाए हैं। उन्होंने टी20 में अब तक 27 अर्धशतक और एक शतक भी लगाया है। दूसरी ओर, फिंच ने 103 मैचों में 19 अर्द्धशतक और दो शतकों की मदद से 3120 रन बनाए हैं।

ओमान के खिलाफ अपनी शानदार पारी में उन्होंने मार्कस स्टोइनिस के साथ 102 रनों की साझेदारी भी की, जिन्होंने 36 गेंदों पर छह छक्कों और दो चौकों की मदद से नाबाद 67 रनों की तेज पारी खेली और टीम को 20 ओवरों में 164/5 तक पहुंचाया।

स्टोइनिस के क्रीज पर आने से पहले ऑस्ट्रेलिया लगातार गेंदों पर कप्तान मिचेल मार्श (14) और ग्लेन मैक्सवेल (0) के विकेट गंवाने के बाद 8.3 ओवरों में 50/3 पर लड़खड़ा रहा था।

ऑलराउंडर मैक्सवेल ऑस्ट्रेलिया के लिए 107 मैचों में 2,468 टी20 रन बनाकर तीसरे स्थान पर हैं, जबकि कप्तान मार्श 55 मैचों में 1,446 रन बनाकर पूर्व ऑलराउंडर शेन वॉटसन के 1,462 रनों के बाद पांचवें स्थान पर हैं।

जीत के साथ अपने अभियान की शुरुआत करने के बाद ऑस्ट्रेलिया अब 8 जून को उसी मैदान पर मौजूदा चैंपियन इंग्लैंड से भिड़ेगा।

आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर मौजूदा टी20 विश्व कप के बाद अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर को अलविदा कह देंगे।

वॉर्नर, वनडे और टेस्ट से पहले ही दूरी बना चुके हैं। उसके बाद उन्होंने यह भी साफ कर दिया था कि वह टी20 विश्व कप के बाद इस फॉर्मेट से भी संन्यास ले लेंगे। ऑस्ट्रेलिया का टी20 विश्व कप अभियान समाप्त होने के साथ वॉर्नर ऑस्ट्रेलिया राष्ट्रीय टीम के लिए हर फॉर्मेट से रिटायर हो जाएंगे।

अगर ऑस्ट्रेलियाई टीम टी20 ट्रॉफी पर अपना कब्जा जमाने में सफल होती है, तो उनके पास तीनों फॉर्मेट की ट्रॉफी हो जाएगी।

साथ ही वार्नर, पैट कमिंस, मिचेल स्टार्क और ट्रेविस हेड के साथ उन चार खिलाड़ियों में से एक हो सकते हैं जिन्होंने तीनों फाइनल खेले हैं।