एग्जिट पोल की विश्वसनीयता पर विपक्ष ने उठाए सवाल तो बीजेपी नेताओं ने कहा, मोदी जी फिर आ रहे हैं

0
9

पटना, 2 जून (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव के नतीजों की घोषणा से पहले सामने आए अलग-अलग एग्जिट पोल में एनडीए की सरकार बनने की बात कही गई है। इसके बाद एनडीए के नेता खासा उत्साहित नजर आ रहे हैं। किसी ने एग्जिट पोल में एनडीए को 350 सीटें मिलने का दावा किया तो किसी ने 350 से ज्यादा।

इसके बाद सियासी गलियारों में हलचल तेज हो गई है। विपक्षी दलों के नेता इस एग्जिट पोल की विश्वसनीयता पर सवाल उठा रहे हैं। उनका कहना है कि यह एग्जिट पोल किसी काम का नहीं है। यह जनता के बीच जाकर नहीं, बल्कि एसी रूम में बैठ कर तैयार किया गया है।

राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव ने एग्जिट पोल पर सवाल उठाते हुए कहा, “सातवें चरण के चुनाव संपन्न हो गए हैं, लेकिन मोदी घराने का कोई भी मीडिया तपिश भरी धूप में लोगों के बीच जाते हुए नहीं देखा गया। आप लोगों को बेवकूफ बना रहे हो। यह दावा कर रहे हैं कि इन्होंने सर्वे किया है। मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि आपने सर्वे नहीं किया है। आपके सर्वे का जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है। आप लोग एग्जिट पोल दिखा रहे हैं। मैं कहता हूं कि आप लोग चार जून का इंतजार करो, जब नतीजों की घोषणा होगी। मैं दावे के साथ कहता हूं, तब आपका ये एग्जिट पोल दूर-दूर तक नजर नहीं आएगा। 4-5 दिन पहले से ही लोग यह चर्चा कर रहे थे कि अब एग्जिट पोल जनता के बीच परोसा जाएगा।“

उन्होंने आगे कहा, “माफी चाहता हूं, लेकिन मैं एक बात दावे के साथ कहता हूं कि शाइनिंग इंडिया की हार होगी। शायद आप लोगों को पता नहीं है कि इस बार जनता ने हमें चुनने का फैसला किया है। इस बार लोगों ने तेजस्वी यादव के संकल्प पर भरोसा जताया है। बेरोजगारी, कालाबाजारी और महंगाई जैसे मुद्दों पर इस बार लोगों ने तेजस्वी को चुनने का फैसला किया है। लेकिन आप लोग एसी कमरे में बैठकर एग्जिट पोल तैयार कर रहे हैं। मैं आपको एक बात कह देना चाहता हूं कि अब देश की हुकूमत इंडिया गठबंधन के हाथों में जाने वाली है। लेकिन आप लोगों को जितना भी पैंतरा करना है, कर लीजिए, जितनी भी अवधारणाएं स्थापित करनी है, कर लीजिए। मैं एक बात दावे के साथ कह देना चाहता हूं कि इस बार इंडिया गठबंधन की जीत होने जा रही है।“

राजद नेता ने कहा, “देश की जनता अब मोदी जी के शासन शैली से त्रस्त हो चुकी है। इस बार इन लोगों का सफाया तय है और जो ये सब एग्जिट पोल दिखा रहे हैं, ये सभी आगामी चार जून को खोखले साबित होंगे, आप देख लीजिएगा।“

उधर बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्रा ने एग्जिट पोल को लेकर कहा, “एग्जिट पोल के रुझान ने यह साबित कर दिया है कि इस बार केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने जा रही है और शेष सभी दलों का सफाया तय है। एक बार फिर से मोदी जी पर देश की जनता ने भरोसा जताया है। जनता मोदी जी के साथ है। एग्जिट पोल के नतीजे बता रहे हैं कि देश ने अवसरवादियों को नकार दिया है। राष्ट्रभक्तों की सरकार बनने जा रही है। पूरे देश ने मोदी जी पर भरोसा जताया है। मोदी जी द्वारा देश के गरीबों के कल्याण के लिए चलाई जाने वाली योजनाओं पर लोगों ने भरोसा जताया है। उनकी जन-कल्याणकारी योजनाओं पर लोगों ने भरोसा जताया है। भारत विश्व गुरु बनने की ओर बढ़ रहा है। ये लोगों ने करके दिखाया है। हमें पूरा विश्वास है कि इस बार एनडीए 400 सीटों के साथ केंद्र में अपनी सरकार बनाने जा रही है।“

इसके अलावा, उन्होंने मध्य प्रदेश के चुनाव के संबंध में आए एग्जिट पोल पर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा, “मध्य प्रदेश में सभी सीटों पर बीजेपी जीत का पताका फहराने जा रही है। शेष दलों का सफाया होने जा रहा है। इस बार भी सूबे की जनता ने बीजेपी पर भरोसा जताया है। अगर किसी को लगता है कि वो जनता को बेवकूफ बनाकर सत्ता की मलाई चखने में सफल रहेंगे, तो शायद उन्हें पता है कि यह लोकतंत्र है। यहां पर जनता ही असली मालिक होती है।“

कांग्रेस प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने भी एग्जिट पोल की विश्वसनीयता पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा, “एग्जिट पोल कुछ भी कहे, लेकिन जो हमारी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा है, वो आगामी चार जून को पूरा होने जा रहा है। इंडिया गठबंधन भारी मतों के साथ केंद्र में अपनी सरकार बनाने जा रही है। जनता ने मोदी जी को नकार दिया है। इस बार मोदी जी का पत्ता कटकर रहेगा। अब लोग बीजेपी से परेशान हो चुके हैं और लोगों को इंडिया गठबंधन में नई उम्मीद दिख रही है।“

एग्जिट पोल के नतीजे पर झारखंड बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि देश को मोदी पसंद है। साथ ही उन्होंने कहा कि झारखंड को भी मोदी पसंद है। उन्होंने कहा कि झारखंड में भी अलग-अलग एग्जिट पोल एनडीए को 10 से लेकर 13 सीट दे रहे हैं, जबकि हम सभी 14 सीट पर जीतेंगे। बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि एग्जिट पोल के अनुसार एनडीए आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और केरल में भी सीटें जीतने जा रही है, जहां पहले नहीं जीतती थी।