पीएम मोदी, राजनाथ सिंह समेत कुल 12 केंद्रीय मंत्रियों के लिए सीएम योगी ने बहाया पसीना

0
11

लखनऊ, 31 मई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नरेंद्र मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनाने के लिए खूब पसीना बहाया है। प्रचार के माध्यम से उनकी राह भी आसान बनाई है।

इनमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल हैं। सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश से चुने गए 12 केंद्रीय मंत्रियों और यूपी के भी चार मंत्रियों का हाथ थाम कर उनके लिए प्रचार किया।

यही नहीं, राज्यसभा सांसद, भाजपा और सहयोगी दलों के आठ विधायकों और तीन विधान परिषद सदस्यों के लिए भी योगी आदित्यनाथ ने रैली, रोड शो और जनसभाएं कीं। लोकसभा चुनाव के लिए एनडीए से उत्तर प्रदेश के आठ विधायक चुनावी समर में उतरे। मुख्यमंत्री योगी ने इन सभी के लिए खूब प्रचार और रैलियां की।

योगी सरकार के मंत्री और मैनपुरी से विधायक जयवीर सिंह को मैनपुरी लोकसभा सीट से टिकट दिया गया। खैर से विधायक और मंत्री अनूप प्रधान वाल्मीकि को हाथरस लोकसभा सीट से मैदान में उतारा गया। फूलपुर से विधायक प्रवीण पटेल को फूलपुर, गाजियाबाद से विधायक अतुल गर्ग को गाजियाबाद, निषाद पार्टी के मझवां से विधायक विनोद कुमार बिंद को भदोही, नहटौर से विधायक ओम कुमार को नगीना, मीरापुर से विधायक चंदन चौहान (रालोद) को बिजनौर और छानबे से विधायक रिंकी कोल (अपना दल एस) को राबर्ट्सगंज लोकसभा सीट से एनडीए का प्रत्याशी बनाया गया है।

इन सभी के लिए योगी आदित्यनाथ ने कई बार रैली और जनसभा कर इनके दिल्ली जाने का मार्ग सरल किया है। योगी सरकार के चार मंत्री भी लोकसभा चुनाव मैदान में उतरे हैं। इनमें से जितिन प्रसाद को पीलीभीत, जयवीर सिंह को मैनपुरी, अनूप प्रधान को हाथरस और दिनेश प्रताप सिंह को रायबरेली से मैदान में उतारा गया। जयवीर सिंह और अनूप प्रधान विधानसभा सदस्य हैं। जबकि, दिनेश प्रताप सिंह और जितिन प्रसाद विधान परिषद सदस्य हैं।

भाजपा ने विधान परिषद सदस्य साकेत मिश्र को श्रावस्ती लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार घोषित किया है। जबकि, राज्यसभा सांसद नीरज शेखर को भाजपा ने बलिया सीट से प्रत्याशी घोषित किया। सातवें चरण में एक जून को बलिया में मतदान होना है। भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वाराणसी और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को लखनऊ लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा है।

भाजपा कार्यकर्ता और उत्तर प्रदेश के मुखिया के रूप में योगी आदित्यनाथ ने दोनों शीर्षस्थ नेताओं के लिए कई रैली, सम्मेलन और संवाद कार्यक्रम किए। इसी तरह से अमेठी से स्मृति ईरानी, जालौन से भानु प्रताप सिंह वर्मा, आगरा से प्रो. एसपी सिंह बघेल, वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी को महाराजगंज, चंदौली से डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, मीरजापुर से अनुप्रिया पटेल, मुजफ्फरनगर से संजीव बालियान, लखीमपुर खीरी से अजय मिश्र टेनी, मोहनलाल गंज से कौशल किशोर और फतेहपुर से साध्वी निरंजन ज्योति फिर से जनता के बीच उतरी हैं।