दिल्ली में पेयजल बर्बाद करने पर 2,000 रुपये का जुर्माना : आतिशी (लीड-1)

0
9

नई दिल्ली, 29 मई (आईएएनएस)। दिल्ली में पेयजल बर्बाद करने पर 2,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। जल संरक्षण और पेयजल की बर्बादी रोकने के लिए दिल्ली में 200 टीमों को तैनात करने का निर्देश दिया गया है।

सरकार का कहना है कि दिल्ली में भीषण गर्मी पड़ रही है और पानी की आपूर्ति में कमी है। ऐसे में पाइप से कारों की धुलाई, पानी की टंकियों का ओवरफ्लो, निर्माण या व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए घरेलू जल आपूर्ति का उपयोग करने पर जुर्माना होगा। इसके साथ ही व्यावसायिक कार्यों के लिए इस्तेमाल हो रहे अवैध जल कनेक्शन भी काटे जाएंगे।

दिल्ली में पानी की कमी के लिए दिल्ली सरकार, हरियाणा को दोष दे रही है। दिल्ली सरकार के मुताबिक हरियाणा, दिल्ली के हिस्से का पानी जारी नहीं कर रहा है। दिल्ली सरकार में जल मंत्री आतिशी ने बुधवार को निर्देश जारी करते हुए कहा कि पाइपों से कारों की धुलाई, पानी की टंकियों का ओवरफ्लो होना, निर्माण या व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए घरेलू जल आपूर्ति का उपयोग करने पर जुर्माना होगा। इसके लिए 200 टीमों को तैनात करने का निर्देश दिया गया है। ये टीमें गुरुवार सुबह 8 बजे से तैनात की जाएगी, और पानी बर्बाद करते हुए पाए जाने वाले किसी भी व्यक्ति पर 2,000 रुपये का जुर्माना लगाएगी।

आतिशी ने कहा कि ऐसा देखा गया है कि दिल्ली के कई हिस्सों में पानी की गंभीर बर्बादी होती है। घरेलू उपयोग के लिए जल आपूर्ति से निर्माण स्थलों और वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों द्वारा अवैध कनेक्शन भी लिए गए हैं। पानी के इस दुरुपयोग पर नकेल कसने की जरूरत है। सीईओ डीजेबी को तुरंत टीम गठित करने का निर्देश दिया गया है। जल बोर्ड निर्माण स्थलों या वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों पर किसी भी अवैध जल कनेक्शन को काट देगा।

बता दें कि बढ़ती गर्मी के बीच दिल्ली में पानी का संकट खड़ा हो गया है। यमुना नदी का जल स्तर सामान्य से काफी कम है। दिल्ली सरकार ने इस स्थिति के लिए हरियाणा को जिम्मेदार ठहराया है। यह फैसला भी लिया जा चुका है कि दिल्ली के कई इलाकों में अब पानी की सप्लाई दो बार की जगह केवल एक बार ही की जाएगी।

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि घटते जल स्तर के कारण यह कदम उठाना पड़ा है। हरियाणा सरकार ने दिल्ली को मिलने वाले यमुना नदी के पानी में कटौती की है। आतिशी के मुताबिक दिल्ली के वजीराबाद में एक मई को यमुना का जल स्तर 674.5 फीट था। न्यूनतम स्तर पर यह 672 फीट तक चला जाता है। 28 मई को यह जलस्तर 669.8 फीट पर रह गया था।