एग्जिट पोल में एनडीए 400 के पार

0
10

नई दिल्ली, 1 जून (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाला एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) लोकसभा की कुल 543 लोकसभा सीटों में से 371 से 401 सीटें जीत सकता है। यह अनुमान इंडिया टीवी-सीएनएक्स के एग्जिट पोल में सामने आया है।

इस एग्जिट पोल में अकेले भाजपा को 319 से 338 सीटें मिलने का अनुमान है। एग्जिट पोल के अनुमानों के मुताबिक, विपक्षी गठबंधन इंडिया ब्लॉक को 109 से 139 सीटें मिल सकती हैं, जबकि निर्दलीय और अन्य को 28 से 38 सीटें मिल सकती हैं। यह एग्जिट पोल 543 लोकसभा क्षेत्रों की 1,629 विधानसभा सीटों पर रैंडमली चुने गए 17,919 मतदान केंद्रों पर किया गया। इसमें 1,79,190 लोगों ने हिस्सा लिया। इनमें 92,205 पुरुष और 86,985 महिलाओं ने अपनी बात रखी।

एग्जिट पोल के मुताबिक बीजेपी को 319 से 338 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस को 52 से 64 सीटें मिलने का अनुमान है। आम आदमी पार्टी को 2-4, तृणमूल कांग्रेस को 14-18, समाजवादी पार्टी को 10-14 जेडी(यू) को 11-13, डीएमके को 15-19, टीडीपी को 12-16, शिवसेना (यूबीटी) को 10-12, शिवसेना (शिंदे) को 5-7. बीजू जनता दल को 4-6, वाईएसआर कांग्रेस को 3-5, बहुजन समाज पार्टी को 0, वही अन्य को 50-54 सीटें मिल सकती हैं।

वोट शेयर की बात करें, तो एनडीए को 46 प्रतिशत और इंडिया गठबंधन को 40 प्रतिशत वोट मिल सकता है। पार्टी के हिसाब से बीजेपी को 41 प्रतिशत, कांग्रेस को 21 प्रतिशत और अन्य को 38 प्रतिशत वोट मिलने की उम्मीद है।

एग्जिट पोल के अनुमानों के मुताबिक, भारतीय जनता पार्टी गुजरात में सभी 26 सीटों पर, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में लगभग सभी सीटों पर, उत्तराखंड में सभी पांच सीटों तथा अरुणाचल प्रदेश, गोवा और त्रिपुरा में क्लीन स्वीप करने जा रही है।

सबसे शानदार जीत उत्तरप्रदेश में होने जा रही है, यहां लोकसभा की कुल 80 सीटों में से भाजपा 62-68 सीटें जीत सकती है, वहीं उसके गठबंधन के सहयोगी राष्ट्रीय लोक दल और अपना दल दो-दो सीटें जीत सकते हैं, जबकि समाजवादी पार्टी 10-16 सीटें जीत सकती है, और कांग्रेस 1-3 सीटें जीत सकती है। बीएसपी एक भी सीट नहीं जीत पाएगी।

बिहार में एनडीए को 34-36 सीटें मिलने का अनुमान है, जबकि इंडिया ब्लॉक को 4-6 सीटें मिल सकती हैं। राजस्थान में बीजेपी 21-23 सीटें जीत सकती है, जबकि कांग्रेस के खाते में 2-4 सीटें जा सकती हैं। वहीं मध्य प्रदेश में बीजेपी 28-29 सीटें जीत सकती है, जबकि कांग्रेस 0-1 सीट जीत सकती है।

पश्चिम बंगाल की बात करें, तो बीजेपी 22-26 सीटें जीत सकती है, जबकि तृणमूल कांग्रेस 14-18 सीटें जीत सकती है, कांग्रेस के खाते में 1-2 सीटें जा सकती हैं। दक्षिणी तमिलनाडु और केरल में इंडिया ब्लॉक शानदार प्रदर्शन कर सकता है। तमिलनाडु में डीएमके 16-18 सीटें जीत सकती है, उसकी सहयोगी कांग्रेस 6-8 सीटें जीत सकती है, बीजेपी 5-7 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है।

कांग्रेस को अपने शासन वाले राज्यों कर्नाटक और तेलंगाना में हार का सामना करना पड़ सकता है। हरियाणा में भाजपा 6-8 सीटें जीत सकती है और कांग्रेस को 2-4 सीटें मिल सकती हैं। हिमाचल प्रदेश में भाजपा 3-4 सीटें जीत सकती है और कांग्रेस के खाते में 0-1 सीट जा सकती है।

ओडिशा में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल को करारी हार का सामना करना पड़ सकता है। बीजेडी को केवल 4-6 सीटें मिलने की उम्मीद है। बीजेपी को 15-17 सीटें मिल सकती हैं, जबकि कांग्रेस को एक सीट से संतोष करना पड़ सकता है। राजधानी दिल्ली में भाजपा 6-7 सीट जीत सकती है, जबकि कांग्रेस को 0-1 सीट पर जीत मिलने की उम्मीद है। वहीं, आप को एक भी सीट नहीं मिलने का अनुमान है।