लंदन के साइंस म्यूजियम में अदाणी ग्रीन एनर्जी गैलरी का शुभारंभ

0
8

अहमदाबाद, 26 मार्च (आईएएनएस)। लंदन के साइंस म्यूजियम में मंगलवार को अदाणी ग्रीन एनर्जी गैलरी का शुभारंभ हुआ। गैलरी का मकसद उन विकल्पों का पता लगाना है जो टिकाऊ ऊर्जा पैदा करने, डीकार्बोनाइज करने और जलवायु परिवर्तन से लड़ने में मदद करेंगे।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि ‘एनर्जी क्रांति : अदाणी ग्रीन एनर्जी गैलरी’, एक निःशुल्क गैलरी है। यह गैलरी दिखाती है कि किस तरह इनोवेशन के माध्यम से अतीत, वर्तमान और भविष्य को आकार दिया जा सकता है। यह भी पता लगाती है कि भविष्य में हमारी ऊर्जा (एनर्जी फ्यूचर) को तय करने में हम सभी की भूमिका कैसे है।

एक्स डॉट कॉम पर अदाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अदाणी ने एक पोस्ट में कहा, ”आज का दिन महत्वपूर्ण है। आज का दिन लंदन के साइंस म्यूजियम में अदाणी ग्रीन एनर्जी गैलरी के उद्घाटन का दिन है। हमें सर टिमोथी लारेंस और सर इयान ब्लैचफोर्ड के नेतृत्व में साइंस म्यूजियम के साथ साझेदारी पर गर्व है, जिसने इस अमेजिंग गैलरी को सच बना दिया। यह गैलरी टिकाऊपन, परिवर्तनकारी प्रौद्योगिकी और जलवायु विज्ञान (क्लाइमेट साइंस) की समझ में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।”

‘फ्यूचर प्लैनेट’ में विजिटर्स यह देख सकते हैं कि पृथ्वी ग्रह को समझने के लिए वैज्ञानिकों ने जटिल कंप्यूटर-आधारित मॉडल का उपयोग कैसे किया है और जलवायु के भविष्य को कैसे समझा है।

गैलरी के केंद्र में ‘ओनली ब्रीद’ नामक एक चलती-फिरती मूर्ति खड़ी है। यह तकनीकी परिवर्तन को प्रेरित करने की प्रकृति की शक्ति का प्रतीक है।

अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) के कार्यकारी निदेशक सागर अदाणी ने कहा, ”गैलरी के स्पॉन्सरशिप के माध्यम से, हमारा लक्ष्य युवा माइंड्स, वैज्ञानिकों और इनोवेटर्स को स्वच्छ ऊर्जा द्वारा संचालित भविष्य की कल्पना करने और कार्बन मुक्त दुनिया बनाने के लिए प्रेरित करना है। यह उनकी दिलचस्पी, जिज्ञासा और जागरूकता को प्रोत्साहित करने और स्वच्छ प्रौद्योगिकियों के निर्माण में उनकी सक्रिय भागीदारी को प्रोत्साहित करने की एक पहल है। गैलरी ऊर्जा दक्षता, स्वच्छ ऊर्जा अपनाने और कार्बन उत्सर्जन में कमी की दिशा में बदलाव को सक्षम करने के लिए विश्व समुदाय को एक साथ लाती है।”