महाराष्‍ट्र : भीमशक्ति ने एमवीए के लोकसभा उम्मीदवारों को देने समर्थन की पेशकश की

0
15

मुंबई, 30 मार्च (आईएएनएस)। महाराष्ट्र में एक दलित संगठन भीमशक्ति ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को हराने में मदद करने के लिए लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और महा विकास अघाड़ी (एमवीए) को अपना समर्थन दिया है। एमवीए के पदाधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी।

भीमशक्ति प्रमुख और राज्यसभा सदस्य चंद्रकांत हंडोरे ने शनिवार को चेंबूर में एक बैठक की, जहां इस संबंध में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया, क्योंकि दलित संगठन ने आगामी आम चुनाव में 400 से अधिक सीटें जीतने के भाजपा के लक्ष्य को विफल करने की कसम खाई है।

उन्होंने कहा, ‘400 के पार सीटों’ का नारा देकर भाजपा का स्पष्ट उद्देश्य बी.आर. अंबेडकर द्वारा तैयार किए गए संविधान को बदलना है। भाजपा शताब्दी वर्ष (1925) में ‘हिंदू राष्ट्र’ बनाने के आरएसएस के एजेंडे को हासिल करने के लिए काम करना चाहती है।”

हंडोरे ने कहा, भीमशक्ति सभी एमवीए उम्मीदवारों का समर्थन करेगी और महाराष्ट्र में अधिकतम सीटों पर भाजपा-आरएसएस गठबंधन को हराने का प्रयास करेगी।

उन्‍होंने कहा, “यह जनता और अंबेडकरवादियों की जिम्मेदारी है कि वे संविधान और लोकतंत्र को बचाने में मदद करें। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले दो वर्षों में अपनी भारत जोड़ो यात्रा के जरिए से इस बारे में जागरूकता फैलाई है।”

हंडोरे ने यह भी कहा कि भीमशक्ति कार्यकर्ता और एमवीए कार्यकर्ता गांवों, कस्बों और शहरों में घर-घर जाकर लोगों को भाजपा की ‘साजिश’ के बारे में जागरूक करेंगे और संविधान को संरक्षित करने का आह्वान करेंगे।

बैठक को एआईसीसी महासचिव रमेश चेन्निथला और राज्य कांग्रेस के अन्य नेताओं ने ऑनलाइन संबोधित किया। उन्‍होंने वंचित बहुजन अघाड़ी (वीबीए) के अध्यक्ष प्रकाश अंबेडकर से भी इस प्रयास में एमवीए-भीमशक्ति गठबंधन से हाथ मिलाने का आग्रह किया।

नासिक के पूर्व महापौर अशोक दिवे, मध्य प्रदेश अध्यक्ष सुनील बोरसे, गोवा प्रमुख ज्ञानेश्‍वर वारखेड़कर, दिनकर ओकर, नामदेव पिंपले, मुंबई इकाई प्रमुख शशिकांत बनसोडे, गोपालराव नेत्रपाले और रवि सोनकांबले जैसे भीमशक्ति नेताओं ने बैठक में भाग लिया।

पार्टी के एक नेता ने कहा, महाराष्ट्र में एमवीए के अलावा, भीमशक्ति पड़ोसी राज्यों में भी इंडिया गठबंधन के उम्मीदवारों का समर्थन करेगी, जहां उसकी ताकत है।