बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जाएंगे पांच टेस्ट मैच

0
11

नई दिल्ली, 25 मार्च (आईएएनएस)। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज जल्द शुरू होने वाली है। बीसीसीआई और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने घोषणा की है कि बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी पांच मैचों की सीरीज होगी।

1991-92 के बाद पहली बार, ऑस्ट्रेलिया और भारत इस गर्मी में पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला में प्रतिस्पर्धा करेंगे। बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए श्रृंखला आने वाले दिनों में जारी होने वाले 2024-25 घरेलू ग्रीष्मकालीन कार्यक्रम का हिस्सा होगी।

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने कहा, “टेस्ट क्रिकेट की समृद्ध विरासत को संरक्षित करने के अपने समर्पण पर बीसीसीआई दृढ़ है, एक ऐसा प्रारूप जिसे हम सर्वोच्च सम्मान देते हैं।”

“बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी को पांच टेस्ट मैचों तक बढ़ाने में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के साथ हमारा चल रहा सहयोग टेस्ट क्रिकेट के महत्व को बढ़ावा देने और इस बढ़ाने के लिए हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

“यह विस्तार टेस्ट क्रिकेट के सार को बढ़ाने और इसकी विरासत को बनाए रखने के हमारे साझा दृष्टिकोण को और बढ़ाएगा। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मुकाबले रोमांचक होने की उम्मीद करते हैं, जो अपनी तीव्रता और उत्साह से दुनिया भर के प्रशंसकों को मंत्रमुग्ध कर देगा।”

सीए के अध्यक्ष माइक बेयर्ड ने कहा, “दो महान क्रिकेट राष्ट्रों के बीच प्रतिद्वंद्विता और इससे पैदा होने वाले उत्साह को देखते हुए हमें बेहद खुशी है कि बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी को पांच टेस्ट तक बढ़ा दिया गया है।”

“क्रिकेट जगत की निगाहें ऑस्ट्रेलिया पर होंगी और मुझे विश्वास है कि पैट कमिंस की विश्व चैंपियन टीम भारतीय टीम को कड़ी चुनौती देगी। हम बीसीसीआई के साथ सहयोग के लिए आभारी हैं और मैं टेस्ट क्रिकेट की श्रेष्ठता के बारे में बीसीसीआई सचिव की भावनाओं से सहमत हूं। हम उनकी टीम, अधिकारियों और प्रशंसकों की मेजबानी करने के लिए उत्सुक हैं।”

दोनों टीमों के बीच पिछली चार टेस्ट सीरीज में भारत हर बार जीत हासिल करते हुए अधिक प्रभावी टीम रही है। इसमें 2018-19 और 2020-21 (दोनों समान 2-1 अंतर से) में ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट श्रृंखला जीतना शामिल है।

2018-19 में भारत ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज जीतने वाली पहली एशियाई टीम बनी।

इस और भविष्य की श्रृंखला के लिए बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का विस्तार उन देशों की स्थिति को मान्यता देता है जिन्होंने 2023 आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल में भाग लिया था और साथ ही खेल के प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय प्रारूप के प्रति उनकी स्थायी प्रतिबद्धता को भी मान्यता दी है।