महाकाल के गर्भगृह में भस्म आरती के दौरान हुई दुर्घटना दुखद, प्रशासन के संपर्क में हूं : मोहन यादव

0
11

उज्जैन, 25 मार्च (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में महाकालेश्वर मंदिर में भस्म आरती के दौरान गुलाल उड़ाए जाने से आग लग गई। जिसमें पुजारी समेत 13 लोग झुलस गए।

जिलाधिकारी नीरज सिंह ने इस हादसे की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं। वहीं मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

बताया गया है कि भस्म आरती के बाद गर्भगृह में मौजूद पुजारी द्वारा होली के अवसर पर गुलाल उड़ाया जा रहा था। इसी दौरान आग भड़क उठी और गर्भगृह में मौजूद कई पुजारी सहित 13 लोग झुलस गए।

सभी को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया है। हादसे में चार लोग गंभीर रूप से झुलसे हैं, जिन्हें बेहतर इलाज के इंदौर भेजा गया है।

महाकाल मंदिर के पुजारी आशीष ने बताया, ”भस्म आरती के बाद गुलाल उड़ाया जा रहा था इस दौरान आग भड़क उठी। मौके पर मौजूद पुजारी सहित अन्य लोग झुलस गए। सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया।”

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव इस घटना को दुखद बताया। सीएम मोहन यादव ने अपने एक्स अकाउंट पर लिखा, ”आज प्रातः बाबा महाकाल मंदिर के गर्भगृह में भस्म आरती के दौरान हुई दुर्घटना दुखद है। मैं सुबह से ही प्रशासन के संपर्क में हूं। सब नियंत्रण में है। बाबा महाकाल से प्रार्थना है कि सभी घायल शीघ्र ही पूर्णतः स्वस्थ हों।”

उज्जैन के जिलाधिकारी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि गर्भगृह में लगी आग से 13 लोग झुलसे हैं। घटना की मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए गए हैं। तीन सदस्यीय समिति तीन दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

स्थानीय लोगों के मुताबिक, जो गुलाल उड़ाई जा रही थी उसमें कपूर होने की संभावना है। उसी के चलते यह आग भड़की है। मंदिर परिसर में उस समय बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। लेकिन स्थिति को जल्द संभाल लिया गया और आग पर काबू पा लिया गया।

बता दें कि रविवार को बाबा महाकाल के दरबार में सुबह फूलों की होली खेली गई थी और शाम को होलिका दहन किया गया था। सोमवार की सुबह भस्म आरती के बाद बाबा महाकाल के साथ अबीर गुलाल से होली खेली जा रही थी, इसी दौरान यह हादसा हो गया।