चश्मदीद ने कहा, 1990 में वायुसेना कर्मियों पर गोलीबारी में यासीन मलिक मुख्य शूटर था

0
24

जम्मू, 18 जनवरी (आईएएनएस)। अभियोजन पक्ष के एक महत्वपूर्ण गवाह ने गुरुवार को जेकेएलएफ चेयरमैन यासीन मलिक की पहचान 1990 में श्रीनगर में भारतीय वायुसेना कर्मियों की हुई हत्या में मुख्य शूटर के रूप में की।

25 जनवरी 1990 को श्रीनगर के रावलपोरा इलाके में गोलीबारी की घटना में एक स्क्वाड्रन लीडर सहित भारतीय वायुसेना के चार कर्मी मारे गए और 22 अन्य घायल हो गए। गोलीबारी तब हुई थी जब वे ड्यूटी के लिए स्टाफ बस का इंतजार कर रहे थे।

एक प्रत्यक्षदर्शी पूर्व वायुसेना कर्मी राजवर उमेश्वर सिंह ने गुरुवार को यासिन मलिक की पहचान रावलपोरा में वायुसेना कर्मियों पर गोलीबारी करने वाले मुख्य शूटर के रूप में की।

मलिक को दिल्ली की तिहाड़ जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अदालत में पेश किया गया, जहां उसे एक अन्य आतंकवादी अपराध में आजीवन कारावास की सजा सुनाए जाने के बाद से रखा गया है।

सीबीआई की वकील मोनिका कोहली ने संवाददाताओं से कहा कि एक चश्मदीद गवाह द्वारा इस गोलीबारी की घटना में मुख्य शूटर के रूप में मलिक की पहचान एक महत्वपूर्ण बात है।

–आईएएनएस

एसकेपी/