हुंडई मोटर्स लाएगी 25,000 करोड़ रुपये का आईपीओ, कंपनी ने सेबी के पास जमा कराए ड्राफ्ट पेपर

0
14

मुंबई, 15 जून (आईएएनएस)। हुंडई मोटर्स इंडिया लिमिटेड की ओर से शनिवार को भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास 25,000 करोड़ रुपये (करीब 3 अरब डॉलर) का आईपीओ लाने के लिए ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (डीआरएचपी) जमा कराया गया।

डीआरएचपी में दी गई जानकारी में बताया गया कि इस आईपीओ के तहत कंपनी 10 रुपये की फेस वैल्यू वाले 14,21,94,700 शेयर ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) के तहत बेचेगी। इस ओएफएस में कंपनी के प्रमोटर्स की ओर से शेयरों की बिक्री की जाएगी।

कंपनी द्वारा आगे कहा कि आईपीओ के जरिए फर्म इक्विटी शेयरों को एक्सचेंज पर लिस्ट कर लिस्टिंग के फायदे हासिल करना चाहती है। हमें उम्मीद है कि इक्विटी शेयरों को लिस्ट करने से विजिबिलिटी और ब्रांड इमेज बढ़ेगी।

अगर हुंडई मोटर्स के आईपीओ को सेबी से मंजूरी मिल जाती है, तो ये अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ होगा। फिलहाल लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एलआईसी) की ओर से 2022 में लाया गया 2.7 अरब डॉलर का आईपीओ अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ है।

हुंडई मोटर्स की ओर से कोटक महिंद्रा, सिटीबैंक, मॉर्गन स्टेनली, जेपी मॉर्गन और एचएसबीसी को शेयर बाजार में एंट्री के लिए ग्लोबल इन्वेस्टमेंट बैंक नियुक्त किया गया है।

मई में हुंडई मोटर्स इंडिया की बिक्री में सालाना आधार पर 7 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गई थी और यह 63,551 यूनिट्स थी।

यात्री वाहन बिक्री के मामले में हुंडई मोटर्स मारुति सुजुकी के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है।

कंपनी ने भारत में अपना पहला मैन्युफैक्चरिंग प्लांट 1998 में लगाया था, जबकि दूसरा 2008 में शुरू किया था। पिछले वर्ष हुंडई मोटर्स ग्रुप ने भारत में करीब 3.75 अरब डॉलर के निवेश का ऐलान किया था।