हॉकी खिलाड़ी वरुण कुमार को समन कर सकती है पुलिस, आरोपी के खिलाफ तेज हुई जांच

0
23

बेंगलुरू, 2 फरवरी (आईएएनएस)। पुलिस ने हॉकी प्लेयर वरुण कुमार के खिलाफ जांच तेज कर दी है। वरुण के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। इसके अलावा मामले की जांच के लिए दो टीमों का गठन भी किया जा चुका है। जांच अधिकारी जल्द ही वरुण कुमार को इस मामले में पुलिस के समक्ष पेश होने के लिए समन जारी करेंगे।

सूत्रों ने बताया कि आरोपी और पीड़िता के बीच हुई चैट, फोन रिकॉर्डिंग और होटल रूम की बुकिंग जो हुई थी, उसकी जांच भी की जा रही है।

बता दें कि कर्नाटक पुलिस ने 22 वर्षीय एयरलाइन कर्मचारी की शिकायत के आधार पर हॉकी प्लेयर वरुण कुमार के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।

बेंगलुरु शहर की ज्ञानभारती पुलिस ने कुमार के खिलाफ पॉक्सो अधिनियम की धारा 4 (2), 5 (L), 6 और आईपीसी की धारा 376 (3) के प्रावधानों के तहत 16 साल से कम उम्र की महिला के साथ बलात्कार और 420 (धोखाधड़ी) के तहत एफआईआर दर्ज की।

पीड़िता ने अपनी शिकायत में कहा कि आरोपी उसके साथ 16 साल की उम्र से शादी का झूठा वादा कर दुष्कर्म कर रहा था। वहीं, एक साल पहले पिता के निधन के बाद आरोपी मुझे सांत्वना देने आया था, लेकिन इसके बाद उसने मुझे फोन करना बंद कर दिया। इतना ही नहीं, उसने मेरे फोन को भी नजरअंदाज करना शुरू कर दिया, लेकिन इसके बाद जब मैंने उसके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराने का फैसला किया, तो उसने मुझसे दोबारा बातचीत करना शुरू कर दिया।”

पीड़िता ने आगे कहा, “जब मैंने उससे शादी करने को कहा, तो उसने मुझसे कहा कि हम ऐसे ही रह सकते हैं। यही नहीं, आरोपी ने मुझे धमकी देते हुए कहा कि अगर मैं उस पर शादी का दबाव बनाऊंगी, तो वो मेरी तस्वीरों को सोशल मीडिया पर साझा कर देगा।

बता दें कि पीड़िता मूल रूप से बेंगलुरु की रहने वाली है। 16 साल की उम्र में वॉलीबॉल में चयन होने के बाद वो स्पोर्ट्स ऑथिरिटी ऑफ इंडिया के सानिध्य में रहकर प्रशिक्षण ले रही थी। वह वूमेन हॉस्टल में रह रही थी। वहीं, वरुण कुमार भी उस कैंपस से ट्रेनिंग ले रहा था। पीड़िता की इंस्टाग्राम के जरिए वरुण से मुलाकात हुई थी। इसके बाद वरुण आए दिन उसे मैसेज करने लगा।

पीड़िता ने अपनी शिकायत में कहा, ”मैं नाबालिग थी, इसलिए मैं उसके किसी भी मैसेज का जवाब नहीं देती थी। एक बार आरोपी ने अपने दोस्त को मेरे पास भेजा कि मैं उसके करीब जाऊं, लेकिन मैंने कोई जवाब नहीं दिया। इसके बाद आरोपी मुझे लगातार मैसेज करने लगा। वो मेरे सामने रोता था और कहता था कि मेरे बिना नहीं रह पाएगा। इसके बाद जब उसके दोस्तों ने मुझे विश्वास दिलाया कि वो अपनी बहन की तरह मेरे सुरक्षा करेंगे, तब मैं उससे मिलने के लिए तैयार हुई। वहीं, जब मेरी उससे मुलाकात हुई, तो वो मुझ पर शादी करने का दबाव डालने लगा, लेकिन मैंने उसका ऑफर ठुकरा दिया। आरोपी ने मुझसे कहा कि वो मेरे परिवार को शादी के लिए राजी कर लेगा, तब तक हम एक अच्छे दोस्त की तरह रह सकते हैं।”

पीड़िता ने कहा, ”एक बार आरोपी मुझे जयनगर फोर्थ ब्लॉक के एक होटल में डिनर के लिए ले गया। डिनर के बाद वो मुझे जबरन रूम में ले गया। यहां तक कि मैंने आरोपी से कहा कि मैं नाबालिग हूं, लेकिन इसके बावजूद भी उसने जबरन मेरे साथ यौन संबंध बनाने का प्रयास किया। हालांकि, उसके द्वारा किए गए शादी के झूठे वादों पर विश्वास करके उसे मैंने 5 सालों तक प्यार किया। इस दौरान वो मुझे बेंगलुरु के कई होटलों में ले गया और मेरे साथ यौन शोषण किया।”