टिल्लू-ताजपुरिया गैंग का शार्प शूटर दिल्ली में गिरफ्तार

0
8

नई दिल्ली, 31 मई (आईएएनएस)। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने राष्ट्रीय राजधानी से टिल्लू-ताजपुरिया गैंग के एक शार्प शूटर को गिरफ्तार किया है। उसे जेल में बंद गैंग लीडर की ओर से प्रतिद्वंद्वी गिरोह के सदस्यों को खत्म करने का निर्देश मिले थे।

आरोपी की पहचान हरियाणा के रोहतक जिले के निवासी विशाल उर्फ ​​घैसल (24) के रूप में हुई है।

पुलिस के अनुसार, क्राइम ब्रांच को दिल्ली और उसके आसपास एक्टिव गैंग के सदस्यों को गिरफ्तार करने का काम सौंपा गया है।

डीसीपी (क्राइम) सतीश कुमार ने बताया, “आरोपी विशाल के भलस्वा झील, भलस्वा डेयरी के पास आने के बारे में एक विशेष इनपुट मिला था। टीम ने उस जगह पर छापा मारा और विशाल को गिरफ्तार कर लिया।”

पूछताछ में पता चला कि बचपन से ही वह सुमित उर्फ ​​झुमका नामक व्यक्ति को जानता था। वह टिल्लू-ताजपुरिया गैंग का सदस्य है। सुमित हाल ही में अलीपुर थाने में दर्ज हत्या के मामले में शामिल है और फरार है।

डीसीपी ने आगे कहा कि सुमित के जरिए वह हिम्मत उर्फ ​​चीकू नामक गैंग के दूसरे सदस्य के संपर्क में आया। वह उसके निर्देशों पर काम करने लगा।

दिसंबर 2020 में हिम्मत के निर्देश पर उसने परमजीत उर्फ ​​चिता के साथ मिलकर बोगा (गैंगस्टर राजेश बवानिया का शार्प शूटर) की हत्या की योजना बनाई। लेकिन, जब वे योजना को अंजाम देने के लिए जा रहे थे, तब पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया था।

डीसीपी ने बताया कि जेल से रिहा होने के बाद भी वह सुमित के संपर्क में रहा। मार्च 2024 में उसकी मुलाकात सुमित से हुई। उसने उसे खुद का खर्च चलाने के लिए पैसे दिए। साथ ही भरोसा दिलाया कि वे उसका इस्तेमाल प्रतिद्वंद्वी गिरोह के सदस्यों की हत्या के लिए करेगा।

उन्होंने आगे कहा कि लगभग 15 से 20 दिन पहले सुमित के निर्देश पर विशाल को हथियार और गोला-बारूद मिला था। उसे भलस्वा झील के पास पहुंचकर टिल्लू-ताजपुरिया गैंग के दूसरे सदस्य से मिलने और हिम्मत द्वारा बताए गए टारगेट पर काम शुरू करने का निर्देश दिया गया था। लेकिन, पुलिस टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया।”