दक्षिण अफ़्रीका की संसद ने आईसीजे के आदेश का पालन करने के लिए इज़राइल पर दबाव बनाने का किया आह्वान

0
19

केप टाउन, 27 जनवरी (आईएएनएस)। दक्षिण अफ्रीकी संसद ने इजरायल के खिलाफ देश के नरसंहार मामले पर अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) के “ऐतिहासिक फैसले” का स्वागत किया है, और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से इजरायल पर इसका पालन करने के लिए दबाव बनाने का आह्वान किया है।

समाचार एजेंसी श‍िन्हुआ ने शुक्रवार शाम को संसद द्वारा जारी एक बयान का हवाला देते हुए बताया कि आईसीजे ने निर्धारित किया है कि गाजा में इजरायल की कार्रवाई “संभावित रूप से नरसंहार” है और उस आधार पर अस्थायी उपायों का संकेत दिया है।

इसे “मानवाधिकारों की एक महत्वपूर्ण जीत” बताते हुए संसद ने कहा, “यह फैसला गाजा में तत्काल युद्धविराम और संघर्ष समाप्त करने पर दक्षिण अफ्रीका की स्थिति की पुष्टि करता है।”

बयान में, दक्षिण अफ़्रीकी संसद ने इज़राइल से बाध्यकारी उपायों का सम्मान करने और गाजा में व फिलिस्तीनी लोगों के खिलाफ नरसंहार रोकने का आह्वान किया।

संसद ने कहा, “आत्मरक्षा के नाम पर इजरायल और उसके समर्थकों की अंधाधुंध सैन्य कार्रवाइयों के लिए अब कोई विश्वसनीय आधार नहीं है। यह फैसला नरसंहार कन्वेंशन सहित अंतर्राष्ट्रीय कानून के साथ इजरायल के गैर-अनुपालन का एक स्पष्ट प्रदर्शन है।”

इसलिए, इसमें कहा गया है, यह फैसला इज़राइल को गाजा में संघर्ष तुरंत रोकने और संयुक्त राष्ट्र की अधिक मानवीय सहायता की अनुमति देने के लिए मजबूर करता है।

इसमें कहा गया है, “अदालत द्वारा आदेशित उपायों पर विचार करते हुए, हम सरकारों, संसदों और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से आदेश का पालन करने के लिए इज़राइल पर दबाव डालकर जवाब देने का आह्वान करते हैं।”

संसद ने आईसीजे के आदेश की औपचारिक अधिसूचना और उसके क़ानून के अनुसार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित करने का भी आह्वान किया क्योंकि “कोई भी सरकार या राज्य कानून से ऊपर नहीं है।”

–आईएएनएस

सीबीटी/