ऋषभ पंत का नंबर तीन पर खेलना काफी सकारात्मक है : हरभजन

0
18

नई दिल्ली, 17 जून (आईएएनएस)। भारत ने टी 20 विश्व कप में ग्रुप ए में अपना अभियान अपराजित रहते हुए ग्रुप में शीर्ष पर रहकर समाप्त किया। पूर्व भारतीय क्रिकेटर हरभजन सिंह ने टूर्नामेंट में अब तक भारतीय अभियान की समीक्षा की और ऋषभ पंत के सुपर आठ में नंबर तीन पर बल्लेबाजी जारी रखने का समर्थन किया।

पूर्व भारतीय स्पिनर ने पंत के तीसरे नंबर पर आने की व्याख्या करते हुए कहा कि इससे लेफ्ट-राइट संतुलन बना रहता है जो किसी भी गेंदबाजी इकाई के लिए कड़ी चुनौती पेश करता है।

टूर्नामेंट में अब तक पंत भारतीय टीम की तरफ से शीर्ष स्कोरर रहे हैं। उन्होंने न्यूयॉर्क की मुश्किल पिच पर तीन पारियों में 96 रन बनाये हैं जबकि आलराउंडर हार्दिक पांड्या बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह के साथ सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। दोनों ने सात-सात विकेट लिए हैं।

हरभजन ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा,”ऋषभ पंत को नंबर 3 पर खेलाना एक बड़ी सकारात्मक बात है। जब ऋषभ पंत नंबर 3 पर खेलते हैं तो बाएं-दाएं संयोजन बनता है। इसमें बहुत सारी सकारात्मकताएं हैं। बेशक, चुनौतियाँ और कठिनाइयाँ हैं। लेकिन चुनौतियाँ उनके लिए आती हैं जो बहादुर होते हैं। यह टीम बहादुर खिलाड़ियों की टीम है,उन्होंने अच्छा संघर्ष किया और बहुत अच्छा खेला। इसके कारण, वे ग्रुप में शीर्ष पर रहे। ”

पूर्व गेंदबाज ने शोपीस इवेंट में पांड्या के योगदान को रोहित शर्मा की अगुवाई वाली टीम के लिए “सबसे बड़ा सकारात्मक” बताया।

“सबसे बड़ी सकारात्मक बात यह है कि हार्दिक पांड्या ने विकेट लिए। वह इस टूर्नामेंट में चौथे गेंदबाज थे। लेकिन अगर आप उनके विकेटों की संख्या को देखें, तो उनसे जितनी उम्मीद की थी, उन्होंने उससे कहीं बेहतर प्रदर्शन किया है। उनके साथ ऋषभ पंत भी नंबर 3 पर खेले। इस विश्व कप से पहले उनकी भूमिका पूरी तरह से बदल गई थी, हम कह रहे थे कि संजू सैमसन टीम में खेलेंगे क्योंकि उन्होंने बड़े रन बनाए हैं।”

हरभजन ने पाकिस्तान के खिलाफ जसप्रीत बुमराह के असाधारण स्पैल को भी याद किया, जिसने मैच की गति बदल दी और भारत को अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वियों को हराने में मदद की।

“सबसे बड़ी सकारात्मक बात यह है कि जब आप मुसीबत में होते हैं, तो आप उससे कैसे बाहर निकलते हैं? उस दिन किसी न किसी खिलाड़ी ने हाथ उठाकर अपना काम किया। जसप्रीत बुमराह का जादू, रिजवान ने खराब शॉट मारा और आउट हो गए, इसके बाद टीम ने जो ऊर्जा दिखाई वो काबिले तारीफ थी , जो लोग सो रहे थे वे जाग गए और छोटे स्कोर का बचाव करते हुए मैच को उस स्थिति से निकाल लिया। उन्होंने कहा, ”पाकिस्तान के खिलाफ उनके पंजे से मैच जीतना कोई आम बात नहीं थी। ”

भारत 20 जून को बारबाडोस में अपने पहले सुपर आठ मैच में अफगानिस्तान से भिड़ेगा।