फोन टैपिंग मामला : तेलंगाना सरकार की ‘निष्क्रियता’ के खिलाफ भाजपा का विरोध प्रदर्शन

0
8

हैदराबाद, 31 मई (आईएएनएस)। भाजपा की तेलंगाना इकाई के नेताओं ने शुक्रवार को फोन टैपिंग मामले में सरकार की ‘निष्क्रियता’ को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने मामले में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

भाजपा के ओबीसी मोर्चा के अध्यक्ष और सांसद के. लक्ष्मण के नेतृत्व में नेताओं ने मामले में कांग्रेस सरकार की निष्क्रियता के विरोध में इंदिरा पार्क में धरना दिया।

सांसद ने मांग की कि कांग्रेस सरकार, भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) के शासन के दौरान फोन टैपिंग के पीछे जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नहीं कर रही?

उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ए. रेवंत रेड्डी पर दिल्ली में बैठे बड़े लोगों का दबाव है। इसलिए वे आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहे। मामले में गिरफ्तार पुलिस अधिकारियों के इकबालिया बयान से पता चलता है कि मामले से जुड़े सभी सबूत नष्ट कर दिए गए हैं।

कांग्रेस को फोन टैपिंग में शामिल सभी लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने का अपना वादा पूरा करना चाहिए। लक्ष्मण ने याद दिलाया कि रेवंत रेड्डी ने एक बार कहा था कि वह फोन टैपिंग के शिकार हैं।

आरोपियों के कबूलनामे से पता चलता है कि कैसे करीब 50 अधिकारियों ने इम्पोर्टेड टेक्नोलॉजी और इक्विपमेंट का इस्तेमाल कर पूरा ऑपरेशन चलाया। कबूलनामे के बावजूद सरकार इसमें शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही। तेलंगाना के लोग मुख्यमंत्री से जवाब चाहते हैं।

भाजपा नेता ने कहा कि लोकतंत्र की रक्षा करना सभी की जिम्मेदारी है। सरकार की जिम्मेदारी है कि वह सुनिश्चित करे कि राष्ट्रीय सुरक्षा को कोई खतरा न हो।

उन्होंने फोन टैपिंग को राष्ट्र विरोधी कृत्य बताते हुए इसकी जांच सीबीआई से कराने की मांग दोहराई। कांग्रेस सरकार की निष्क्रियता से संदेह पैदा हो गया है कि वह बीआरएस नेताओं को बचाने का प्रयास कर रही है।