चंकी पांडे ने स्ट्रगल के दिनों को किया याद, कहा- प्रोड्यूसर के दफ्तर के बाहर घंटों इंतजार करता था

0
16

मुंबई, 1 जुलाई (आईएएनएस)। एक्टर चंकी पांडे ने फिल्म इंडस्ट्री में कई सुपरहिट दी हैं। एक्टर ने अपने स्ट्रगल के दिनों का याद करते हुए बताया कि कैसे उन्हें प्रोड्यूसर्स के ऑफिस के सामने लंबी लाइन में खड़े होकर इंतजार करना पड़ता था।

उन्होंने यह भी खुलासा किया कि उस समय वह पार्ट-टाइम कार डीलर थे।

हाल ही में रिलीज हुई ड्रामा सीरीज ‘इंडस्ट्री’ में चंकी पांडे को राकेश रमन का किरदार निभाते देखा गया। फैंस सीरीज में उनके परफॉर्मेंस की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “मेरे स्ट्रगल के दिन बहुत अलग थे, तब कोई कास्टिंग डायरेक्टर या डिजिटल मीडिया नहीं था, इसलिए हमें प्रोड्यूसर्स के ऑफिस के सामने लंबी लाइनों में इंतजार करना पड़ता था। उनसे मिलना और उन्हें फोटो एल्बम दिखाना, हमें उनके सामने डांस भी करना पड़ता था और पॉपुलर फिल्मों के सीन भी करने पड़ते थे।”

“यह आसान नहीं था, लेकिन यह मजेदार था। खैर, वे मेरे स्ट्रगल के दिन थे। मैं पार्ट-टाइम कार डीलर था, इसलिए मुझे उन कारों को चलाने का मौका मिलता था। हर दिन, मैं एक अलग कार में प्रोड्यूसर्स के ऑफिस जाता था।”

चंकी ने ‘इंडस्ट्री’ में अपने को-एक्टर्स के साथ काम करने के अपने एक्सपीरियंस को शेयर किया और कहा, “इस नई जनरेशन के एक्टर्स के साथ काम करना बहुत अच्छा लगा। उनके साथ काम करने से मुझे आगे बढ़ने की प्रेरणा मिली। इस एक्सपीरियंस से मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला। मैं ‘इंडस्ट्री’ के अगले सीजन का बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं।”

द वायरल फीवर (टीवीएफ) द्वारा निर्मित सीरीज ‘इंडस्ट्री’ आयुष वर्मा (गगन अरोड़ा) के जीवन के इर्द-गिर्द घूमती है, जो स्क्रीनराइटर हैं। वह फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने की कोशिश करता है।

इसमें गुनीत मोंगा, अंकिता गोराया, कुणाल कपूर, अभिषेक बनर्जी, अमित मसुरकर, सुपर्ण वर्मा, सुनीत रॉय, सुमित अरोड़ा और प्रोसित रॉय भी लीड रोल में हैं।

‘इंडस्ट्री’ अमेजन मिनी टीवी पर स्ट्रीम हो रही है।

वर्क फ्रंट की बात करें तो चंकी को पिछली बार 2022 की स्पोर्ट्स एक्शन फिल्म ‘लाइगर- साला क्रॉसब्रीड’ में देखा गया था। इसमें विजय देवरकोंडा और उनकी बेटी अनन्या पांडे लीड रोल में थे।

बता दें कि चंकी पांडे का असली नाम सुरेश पांडे था। उनकी नैनी उन्हें प्यार से ‘चंकी’ कहकर बुलाया करती थी, धीरे-धीरे घर में सभी उन्हें ‘चंकी’ कहने लगे, इस तरह उनका नाम चंकी पांडे पड़ गया।

उन्होंने 1987 में फिल्म ‘आग ही आग’ से बॉलीवुड डेब्यू किया था। इसके बाद वह ‘पाप की दुनिया’, ‘खतरों के खिलाड़ी’, ‘जहरीले’, ‘आंखें’ जैसी फिल्मों का हिस्सा रहे। 1988 की उनकी फिल्म ‘तेजाब’ सुपरहिट साबित हुई। इसमें उनके साथ अनिल कपूर भी थे। इस फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट सर्पोटिंग एक्टर का फिल्मफेयर अवार्ड मिला।

अनिल कपूर के साथ हिट फिल्म देने के बाद उन्होंने गोविंदा के साथ फिल्म ‘आंखें’ की। यह फिल्म में सुपरहिट रही। गोविंदा और चंकी की जोड़ी को लोगों ने काफी पसंद किया।

चंकी ने बॉलीवुड के अलावा, बांग्लादेश की फिल्मों में भी काम किया है। 1995 में उन्होंने पहली बार बांग्लादेशी फिल्म में लीड रोल किया और स्टारडम हासिल किया। बांग्लादेशी सिनेमा में उन्होंने कई हिट फिल्में दी, जिनमें ‘स्वामी केनो असामी’, ‘बेश कोरेची प्रेम कोरेची’, ‘मेयेरा ए मानुष’ समेत कई फिल्में शामिल हैं।

इसके बाद, उन्होंने बॉलीवुड में कमबैक किया और 2003 में ‘कयामत’ में निगेटिव रोल कर फिर से पर्दे पर राज किया। उन्होंने ‘पेइंग गेस्ट’, ‘हाउसफुल’ सीरीज की चारों फिल्में, ‘बुलेट राजा’ और ‘बेगम जान’ में काम किया।