चारधाम यात्रा : गाडू घड़ा तेल कलश यात्रा कर्णप्रयाग होकर पहुंची पाखी गांव

0
12

चमोली, 8 मई (आईएएनएस)। उत्तराखंड की चारधाम यात्रा 10 मई से विधिवत रूप से शुरू हो रही है। 12 मई को सुबह ब्रह्म मुहूर्त में 6 बजे उत्तराखंड के चौथे धाम बद्रीनाथ के कपाट पूरे विधि-विधान के साथ श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जाएंगे।

बुधवार को गाडू घड़ा तेल यात्रा ने बद्रीनाथ धाम के लिए प्रस्थान किया। चमोली जिले के डिम्मर गांव के श्रीलक्ष्मी नारायण मंदिर से गाडू घड़ा तेल यात्रा बद्रीनाथ धाम के लिए रवाना हुई।

बद्रीनाथ धाम गाडू घड़ा तेल कलश यात्रा 25 अप्रैल की देर शाम नरेंद्र नगर राज दरबार से निकली थी। यात्रा 11 मई की शाम कई पड़ावों से होते हुए बद्रीनाथ धाम पहुंचेगी। 12 मई को धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोले जाएंगे।

राजमहल नरेंद्र नगर में परंपरानुसार डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत पदाधिकारियों की उपस्थिति में महारानी माला राज्य लक्ष्मी शाह और सुहागिन महिलाएं भगवान बद्री विशाल के अभिषेक के लिए तिलों से तेल को पिरोकर चांदी के कलश में रखा था।

पूजा-अर्चना के बाद राजमहल में तेल का कलश गाडू घड़ा डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत पदाधिकारियों को सौंपा गया। भगवान बद्रीनाथ के अभिषेक के उपयोग में लाया जाने वाला तिल का तेल नरेंद्रनगर राजदरबार में पिरोया जाता है।