स्नातक की छात्रा की हत्या में पिता, चाचा और दादा गिरफ्तार, 25 दिन बाद वारदात का खुलासा

0
33

रांची, 23 जनवरी (आईएएनएस)। झारखंड के गिरिडीह में स्नातक की एक छात्रा की हत्या उसके पिता, चाचा और दादा ने मिलकर कर दी और शव को आनन-फानन में जंगल ले जाकर जला दिया। तीन दिन पहले चरवाहों ने शव के अवशेष देखकर पुलिस को सूचना दी थी। इसकी जांच के बाद पुलिस ने मंगलवार को वारदात का खुलासा किया।

तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वारदात करीब 25 दिन पहले हुई थी। छात्रा भरकट्टा ओपी क्षेत्र की रहने वाली थी। 20 जनवरी को चरवाहों ने बिरनी प्रखंड के चरगो जंगल में मानव खोपड़ी, हड्डियां, बाल और कपड़े देखे थे। जांच के बाद यह बात सामने आई कि यह 25 दिनों से लापता छात्रा के शव के अवशेष हैं।

अब तक की तहकीकात में मामला ऑनर किलिंग से जुड़ रहा है। जिन तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें लड़की के पिता दिलीप राय उर्फ पिंटू, चाचा सियाराम राय और दादा परमानंद राय हैं।

पुलिस के अनुसार, इस मामले में और भी आरोपी हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए छापामारी की जा रही है। गिरफ्तार आरोपितों ने हत्या की बात मान ली है। उन्होंने पुलिस को दिए इकबालिया बयान में कहा कि उन्होंने बेटी की हत्या की और शव का रातों-रात अंतिम संस्कार कर दिया।

आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद बरामद युवती के शव के अवशेष, हड्डी, खोपड़ी, बाल, कपड़े को मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल ले जाया गया। पुलिस ने फिलहाल हत्या की वजह का खुलासा नहीं किया है।

–आईएएनएस

एसएनसी/एबीएम